vishwasghat-shayari

विश्वासघात पर शायरी » Vishwasghat Shayari Status Quotes

विश्वासघात पर शायरी Vishwasghat Shayari Status Quotes Whatsapp Shayari New Collections For Vishwashghat Karne Wale Logo Par Shayari Hai Friends Share Karo Apne Facebook Whatsapp pe Thanks

विश्वासघात पर शायरी

vishwasghat-shayari-hindi

1.हाथों की लकीरों के फरेब में मत आना, ज्योतिषों की दुकान पर मुक्कदर नहीं बिकते।

2.पल पल उसका साथ निभाते हम एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

3.धोखा दिया था जब तूने मुझे. जिंदगी से मैं नाराज था, सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं. मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

4.आँखों से दूर दिल के करीब था, मैं उसका और वो मेरा नसीब था, न कभी मिला न जुड़ा हुआ, हमारा रिश्ता भी कितना अजीब था। ..

5.वो बात क्या करें जिसकी कोई खबर ना हो। वो दुआ क्या करें जिसका कोई असर ना हो। कैसे कह दे कि लग जाय हमारी उमर आपको। क्या पता अगले पल हमारी उमर ना हो।

6.हर कदम हर पल हम आपके साथ है, भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं, जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों, लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

7.मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर, उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया​।

8.तेरी दोस्ती ने दिया शकुन इतना की तेरे बाद कोई अच्छा भी न लगे तुझे करनी है बेवफाई तो इस क़दर करना की तेरे बाद कोई बेवफा भी न लगे

9.अभी सूरज नहीं दोबा ज़रा शाम होने दो में खुद लौट जओंग्गा मुझे नाकाम तो होने दो मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है ज़माना में खुद हूँ जाऊंगा बदनाम पहेले मेरा नाम तो हुने दो

10.गुमनामी का अँधेरा कुछ इस तरह छा गया है, कि दास्ताँ बन के जीना भी हमें रास आ गया है।

11.उनकी कमी से दिल मेरा उदास है, पर मुझे तो आज भी उनके मिलने की आस है, ज़ख़्म नही पर दर्द का एहसास है, ऐसा लगता है दिल का एक टुकड़ा आज भी उनके पास है.

12.पहले ज़िंदगी छीन ली मुझसे, अब वो मेरी मौत का भी फ़ायदा उठाती है, मेरी क़बर पे फूल चढाने के बहाने, वो किसी और से मिलने आती है..!!!

13.हम वो नही जो तुम्हे गम में छोड़ देंगे , हम वो नही जो तुजसे नाता तोड़ देंगे , हम वो हे जो तुम्हारी साँसे रुके तो , अपनी साँसे छोड़ देंगे ..

14.समझ लेते हैं हम उनकी दिल की बात को, वो हमें हर बार धोका देते है, लेकिन हम भी मजबूर हैं दिल से, जो उन्हें बार बार मौका देते हैं…!

15.इस इश्क ने हम दोनों पे ही सितम ढाए हैं फरेब तुमने भी खाए हैं धोके हमने भी खाए हैं

16.दीवानगी का सितम तो देखो कि धोखा मिलने के बाद भी चाहते है हम उनको .

17.मुझ पर हक तुमने उस दिन खो दिया था जिस दिन तुमने मुझे धोखा दिया था .

18.तुमने हमें धोखा दिया, मगर तुम्हे प्यार मिले। मुझसे भी ज़्यादा दीवाना, तुम्हे कोई यार मिले।

19.उस धोकेबाज़ ने बेशक मेरा दिल तोडा मगर दिल के उन्ही टुकडो में आज भी वो धोकेबाज़ बसा है.

20.तेरे बिन टूट कर बिखर जाएंगे , तुम मिल जाओ तो गुलशन की तरह खिल जाएंगे तुम ना मिली तो जीते जी मर जाएंगे तुम्हे जो पा लिया तो मर कर भी जी जाएंगे।

21.जीवन जीने का मन नहीं करता, सांस लेने का मन नहीं करता। तुमसे धोखा खाने के बाद, कुछ खाने का मन नहीं करता।

22.समय गुज़रते-गुज़रते कुछ लोगो का प्यार कमज़ोर नहीं और गहरा हो रहा है

23.अपनी पीठ से निकले खंज़रों को जब गिना मैंने ठीक उतने ही निकले जितना तुझे गले लगाया था।

24.वो शख्स बड़ा मासूम था मोहब्बत से पहले , पता नहीं क्यू दिल में बसते ही धोखेबाज़ हो गया।

25.वो मासूम चेहरा मेरे ज़ेहन से निकलता ही नहीं दिल को कैसे समझाऊ कि धोखेबाज़ था वो।