sher-o-shayari
sher-o-shayari

Best 350+ sher o shayari in Hindi lovely Images 2021

sher o shayari Best Latest Hindi Sher o Shayari Images (हिंदी शेर-ओ-शायरी) New collection of Romantic Hindi  status, New Hindi Sms, two line shayari pics, 2021

1

तुम्हारे प्यार में हम बैठें हैं चोट खाए!

जिसका हिसाब न हो सके उतने दर्द पाये!

फिर भी तेरे प्यार की कसम खाके कहता हूँ!

हमारे लब पर तुम्हारे लिये सिर्फ दुआ आये!

2

हर वक़्त तेरे आने की आस रहती है!

हर पल तुझसे मिलने की प्यास रहती है!

सब कुछ है यहाँ बस तू नही!

इसलिए शायद ये जिंदगी उदास रहती है!

3

प्यार को कमज़ोरी नहीं ताकत बनाओ
रिश्तो को मज़बूरी नहीं इबादत बनाओ
ज़िंदगी सिर्फ जीने से क्या होगा
हर पल हर लम्हे को अपनी कोशिश से जन्नत बनाओ …

4

प्यार क्या होता है हम नहीं जानते,

ज़िन्दगी को हम अपना नहीं मानते,

गम इतने मील के एहसास नहीं होता,

कोई हमें प्यार करे अब विश्वास नहीं होता.

5

कुछ पाने के लिए कुछ खोना पड़ता है

मुस्कुराने के लिए भी रोना पड़ता है

यूं ही नहीं होता है सवेरा सुबह होने के लिए रात भर सोना पड़ता है!

शुभ रात्री !! गुड नाईट !!!

6

प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता!

ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता!

दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की!

उस के बिना जिया नहीं जा सकता!

Sher o Shayari Hindi

7

प्यास अगर शराब की होती…

तो ना आता तेरे मैखाने मे….:

ये जो तेरी नज़रो का जाम है

कम्बख्त कही और मिलता ही नही…….

8

हम तो बिछडे थे तुमको अपना अहसास दिलाने के लिए,

मगर तुमने तो मेरे बिना जीना ही सिख लिया…!!

9

ना वादा है और ना कोई क़समें है….

फिर भी यह दिल तेरी ही मोहब्बत के बस में है..

10

वो कहती हैं तुम छोड क्यों नही जाते इतनी तकलीफ देती हुं तो….

मैंने कहा साँस लेने में उलझन आए तो क्या जीना हीं छोड दूँ…..

मुझे बहुत प्यारी है, तुम्हारी दी हुई हर एक निशानी…

चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी….

11

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है!

दिल न चाह कर भी, खामोश रह जाता है!

कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है!

कोई कुछ न कहकर भी, सब बोल जाता है!

Lovely Sher o Shayari

12

एक दिन आख़िर महल को तो खंडर होना ही था

ख़्वाहिशें थी ख्वाहिशों को दरबदर होना ही था

हाथो की लकीरों के फरेब में मत आना,

ज्योतिषो की दूकान पर मुक्कदर नहीं बिकते ।

13

कितना भी समेट लो.. हाथों से फिसलता ज़रूर है..

ये वक्त है साहब.. बदलता ज़रूर है..

14

तुम्हारी आँखों में बसा है आशियाना मेरा,

अगर ज़िन्दा रखना चाहो तो कभी आँसू मत लाना।

15

दिल में बसे हो जरा ख्याल रखना

अगर वक़्त मिलजाए तो याद करना

हमें तो आदत है तुम्हें याद करने की

तुम्हें बुरा लगे तो माफ़ करना

16

कभी थक जाओ तुम दुनियाँ की महफिल से,

हमे आवाज दे देना,हम अक्सर अकेले होते है !!

17

प्यार ना दिल से होता है ना दिमाग से होता है,

प्यार तो इत्तेफ़ाक़ से होता है,

मगर प्यार करके प्यार ही मिले

ये इत्तेफ़ाक़ भी किसी किसी के साथ होता है।

18

जिन्दगी में आप जो करना चाहते है,

वो जरूर कीजिये, ये मत सोचिये कि लोग क्या कहेंगे.

क्योंकि लोग तो तब भी कुछ कहते है,

जब आप कुछ नहीं करते.”

19

सभी इन्सान है,मगर सिर्फ फर्क इतना है,

कुछ जख्म भरते है कुछ जख्म देते !!

Lovely Sher o Shayari in Hindi

20

प्यार सभी करते है,मगर फर्क सिर्फ इतना है,

कुछ जान देते है,कुछ जान लेते है !!

21

दोस्ती सभी करते है ,

मगर फर्क सिर्फ इतना है,

कुछ दोस्ती निभाते है,

कुछ आजमाते है !!

22

मुझ से दूरियां बना कर तो देखो,,

फिर पता चलेगा कितना नज़दीक़ हूँ मै.

काश के कभी तुम समझ जाओ,

मेरी मोहब्बत की इन्तेहा को,

23

हैरान रह जाओग तुम अपनी खुशकिस्मती पे !!!

तेरी एक निगाह की बात है ….

मेरी जिंदगी का सवाल है…

मेरी शाम है, तेरी जुस्तजू ….

मेरी सुबह, तेरा ख्याल है …..

24

हम एक तरफा प्यार की कहानी में मरे हैं।

ये मोहब्बत ही है जो हम जवानी में मरे है।।

25

करके बड़े बड़े वादे तोड़ गई वो,

समझ ही नहीं आया की माशुका थी या सरकार…

बंध जाता हे जब किसी से रूह का बन्धन……

तो इजहार ए मुहब्बत को अल्फाजो की जरुरत नहीं होती

26

ना जाने क्यूँ अधूरी सी लगती है ज़िन्दगी मेरी लगता है

जैसे खुद को किसी के पास भूल आया हूँ

क्यूँ सताते हो मुझे यूँ दुरियाँ बढ़ाकर,

क्या तुम्हे मालूम नहीं अधूरी हो जाती है तुझ बिन जिन्दगी…

Romantic Sher o Shayari

27

तेरे साथ की कहा जरूरत है

हम तो तेरी आवाज से ही खुश हो जाते है

साथ उन्हे चाहिये जो अधुरे हो

हम तो तेरी आहट से ही पुरे हो जाते है…

28

कौन यहाँ किसको अपने दिल में जगह देता है

हुज़ूर मतलब निकल जाए तो हर कोई भूला देता है

हमे मत समझाओ वाकिफ हैं हम दुनिया के रिवाजों से

अजी पेड़ भी सूखे पत्तों को गिरा देता है

29

वो कह के चले इतनी मुलाकात बहुत है

हमने कहा रूक जाओ अभी तो रात बहुत है

आंसू मेरे थम जाये तो शौक से चले जाना ऐसे

में कहा जाओगे अभी बरसात बहुत है

30

दिल से दिल बड़ी मुश्किल से मिलते हैं

जैसे तूफान में किनारे मुश्किल से मिलते हैं

अजी मिलने को तो बहुत मिल जाते हैं गोरे गाल

लेकिन गोरे गाल पर तिल बड़ी मुश्किल से मिलते हैं

31

निशाते हाल से बे फिक्रे मुस्तकबिल ना हो जाना,

खुद अपने हाथ अपनी ज़ात के क़ातिल ना हो जाना,

32

कभी दामने-साहिल में भी क़श्ती डुब जाती हे,

निकल कर हल्का ऐ गर्दाब से गाफिल ना हो जाना,

Sher O Shayari On Love

33

वक़ारे-ज़ात का इतना भरम रखना मोहब्बत मे,

करम की हद से बढ के रहम के क़ाबिल ना हो जाना,

34

नज़र तो जुस्तुजू मे खुद हिजाबे जल्वा होती हे,

कहीं राहे तलब मे बेनियाज़े दिल ना हो जाना,

35

तेरी हस्ती ना जब तक मुन्फरिद एक ज़ात बन जाऐ,

हुजुमे कारगाहे दहर मे शामिल ना हो जाना,

36

बज़ुज़ हुस्ने नज़र “बज़्मी” नही कुछ भी पसे पर्दा ,

खुदा रा बन्दा ऐ नेरंगीऐ महमिल ना हो जाना……..

37

अजब जुल्म करती हैं तेरी यादें मुझ पर..

सो जाऊँ तो उठा देती हैं जाग जाऊँ तो रुला देती हैं..

38

भरी महफ़िल में कर रहे थे वो ज़िक्र अपनी वफ़ा का..

नज़र मुझ पर क्या पड़ी कमबख्त ने बात ही पलट दी..

39

ज़रूरी काम है लेकिन ..,,

रोज़ाना भूल जाता हूँ

मुझे तुम से मोहब्बत है ..,,

बताना भूल जाता हूँ

Sher o Shayari

40

तेरी गलियों में फिरना

इतना अच्छा लगता है

मैं रास्ता याद रखता हूँ

ठिकाना भूल जाता हूँ.

41

उम्र खासी तुझे छूलेने की कोशिश मे कटी !!

जो बची खुद से न छू पाने की पुर्शिस मे कटी !!

जो भी आए हॆ नज़दीक ही बेठे हॆ तेरे..!

हम कहाँ तक तेरे पहलू से सरकते जाएँ…!!*

42

तेरे होंठो को छू-छू कर गुजर जाऊं मैं…

काश कही हुई तेरी, हर बात बन जाऊं मैं…

43

जुर्म किसका था मिली किसको सज़ा रहने दो,

किसको होना था हुआ कौन रिहा रहने दो..

दफ़्न मुझमें हैं कई ख़्वाब अज़ल से लेकिन,

मेरी आँखों में उम्मीदों का दिया रहने दो..

ज़िंदगी मेरी किसी और के हिस्से की थी,

किसके हाथों से मिली मुझको क़ज़ा रहने दो..

खो न जाऊँ मैं कहीं भीड़ भरी दुनिया में,

मेरा चेहरा है मेरा इसको मेरा रहने दो ..

दौर-ए-ग़र्दिश में मेरे दिल को तसल्ली मिलती,

उसकी चौखट पे मेरा सर ये झुका रहने दो..

जिस्म मिट्टी का लिए मैं हूँ पड़ा दरिया में,

मेरे होंठों पे मगर हर्फ़ ए दुआ रहने दो..

मैंने रक्खी ही कहाँ आस वफ़ा की इससे,

मुझसे दुनिया ये ख़फ़ा है तो ख़फ़ा रहने दो..

आबले पाँवों में चेहरे पे शिकन भी लेकिन.

मेरी धड़कन में नामे ख़ुदा रहने दो……….

44

आते-आते मेरा नाम सा रह गया

उस के होंठों पे कुछ काँपता रह गया

वो मेरे सामने ही गया और मैं

रास्ते की तरह देखता रह गया

45

झूठ वाले कहीं से कहीं बढ़ गये और

मैं था कि सच बोलता रह गया

आँधियों के इरादे तो अच्छे न थे

ये दिया कैसे जलता रह गया

46

अपनी किश्ती के सहारे नहीं मांगा करते

गर्क हो जायें किनारे नहीं मांगा करते

मेरी गुर्बत मुझे फाका करे तो कर जाये

पर अमीरों से गुजारे नहीं मांगा करते

sher o shayari on love

47

हाथ फैलाने से अच्छा है कि सर कट जाये

अपनी गैरत के नजारे नहीं मांगा करते

दुश्मने दिल से भी खुद्दारियों की उम्मीदें

अपने कदमों में हम हारे नहीं मांगा करते

48

मेरे इखलासो मुहब्बत ही मेरी दौलत है

हम अदाकार संवारे नहीं मांगा करते

ऐशो इशरत से है ईमान को खतरा लाजिम

अपने ईमां के बिगाड़े नहीं मांगा करते

49

खात्मा खैर पे हो इस की दुआ करता हूं

नफ्स से कोई शरारे नहीं मांगा करते

बदनुमा दाग कफन में न कोई हो ‘

अखतर’ देहर किरदार के मारे नहीं मांगा करते

50

देखकर पलकें मेरी …..कहने लगा कोई फक़ीर…..

इन पे बरख़ुरदार …..सपनो का वज़न कुछ कम करो…..

बोल नहीं रहा इसका मतलब ये नहीं की भूल गया हूँ मैं …

मुझे ये देखना है की तुझे मेरी याद कितनी आती है...

51

तुझे तो गैरो की महफ़िलो

मे मुस्काना पड़ता है,

पर सोच तुझे देखकर हमे,

अपने दिल को कितना समझाना पड़ता है…”

52

यदि कुँए में झुकने वाली बाल्टी बाहर आती है

तो भर कर कुछ ऐसा हि जीवन का गणित है

जो झुकता है वो पाता है दादागिरी तो हम

मरने के बाद भी करेंगे लोग पैदल चलेँगे और हम कंधो पर!

53

टूटे हुए प्याले में जाम नहीं आता

इश्क़ में मरीज को आराम नहीं आता

ये बेवफा दिल तोड़ने से पहले ये सोच तो लिया होता

के टुटा हुआ दिल किसी के काम नहीं आता ……..

sher o shayari on love in hindi

54

हर शाखे आरजू पे मुहब्बत का फूल है

देखें वफाऐ हुस्न से अब क्या नजूल है

55

जब इश्क के सलीब पर दे डाली जिन्दगी

तब फिक्रे खैरे जान तो रखना फिजूल है

56

गुन्चाऐ इश्क शोख मुहब्बत के आब से

नफरत का खार देना कहां का असूल है

57

तूफाने हुस्न से है सफीनाऐ इश्क गर्क

साहिल का ऐतबार क्या किश्ती की भूल है

58

बहार की थी मगर ,रुत वो हम पे भारी थी

तेरे बग़ैर कभी हम ने जो गुज़ारी थी

59

फिर उसके बाद कभी भी बुरी नज़र न लगी

कि माँ ने ऐसी हमारी नज़र उतारी थी

60

निहत्थे लोगों पे हमला बहादुरी है तो फिर

“वो जंग तुम भी न जीते जो हमने हारी थी”

61

न जाने कब कोई अपना रुठ जाये

न जाने कबकोई अश्क आँखों से छूटजाये

कुछ पल हमारे साथभी मुस्कुरा लिया करो

ऐ दोस्त न जाने कब तुम्हारे दांत टूटजाये

62

वो पल में बीते साल लिखूं

या सदियों लम्बी रात लिखूं..

मैं तुमको अपने पास लिखूं

या दूरी का एहसास लिखूं..

Sher o Shayari Hindi On 2021

63

छुपा लूं तुझको अपनी बाँहों में इस तरह,

कि हवा भी गुजरने की इजाज़त मांगे;

मदहोश हो जाऊं तेरे प्यार में इस तरह,

कि होश भी आने की इजाज़त मांगे!

64

तेरे होंठो को छू-छू कर गुजर जाऊं मैं…

काश कही हुई तेरी, हर बात बन जाऊं मैं…

65

अगर सच में किसी का साथ ज़िन्दगी भर चाहते हो तो…!!

उसे कभी मत बताओ की तुम उससे कितना प्यार करते हो…

Read More >>>> Shayari For Hindi