pyar-suru-karne-ki-shayari

प्यार शुरू करने की शायरी Status Quotes Messages

प्यार शुरू करने की शायरी Status Quotes Messages In Hindi Pyar Suru Karne Ki Shayari With Images Photos Best New Latest 2021 Collection For Share On Whatsapp Facebook 

प्यार शुरू करने की शायरी

pyar-suru-karne-ki-shayari-hindi

 “आपकों प्‍यार करने से डर लगता है आपकों खोने से डर लगता है
कहीं आखों से गुम ना हो जाये याद अब रात में सोने से डर लगता है”

 बहुत खूब सूरत है आखै तुम्हारी इन्हें बना दो किस्मत हमारी
हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी

 क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है! एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है!
लगने लगते है अपने भी पराये! और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है!

खोया हूं तुम्हारे खयालो मे जमाने का कोई होश नही
ना समझो मुझे तुम दीवाना इतना भी मै मदहोश नही

वो आपका पलके झुका के मुस्कुराना; वो आपका नजरें झुका के शर्मना;
वैसे आपको पता है या नहीं हमें पता नहीं; पर इस दिल को मिल गया है उसका नज़राना।

तुम्हारी ज़िद बेमानी है दिल ने हार कब मानी है
कर ही लेगा वश में तुम्हें आदत इसकी पुरानी है.

प्यार शुरू करने की शायरी

गम ने हसने न दिया, ज़माने ने रोने न दिया! इस उलझन ने चैन से जीने न दिया!
थक के जब सितारों से पनाह ली! नींद आई तो तेरी याद ने सोने न दिया!

एक अजीब सा मंजर नज़र आता हैं … हर एक आँसूं समंदर नज़र आता हैं
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना .. हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता हैं

 तेरा हुस्न जब से मेरी आँखों में समाया है, मेरी पलकों पे एक सुरूर सा छाया है,
मेरे चेहरे को हसीन नूर देने वाले, ये तेरे दीदार के लम्हों का सरमाया है!

hindi-pyar-suru-karne-ki-shayari

उतरा है मेरे दिल में कोई चाँद नगर से, अब खौफ ना कोई अंधेरों के सफ़र से,
वो बात है तुझ में कोई तुझ सा नहीं है, कि काश कोई देखे तुझे मेरी नजर से।

 जब जरूरत हो सहारे की तब कोई हाथ नहीं देता
वक़्त पर क्यों कोई कभी साथ नहीं देता

अगर मैं तुमसे तारों को जमीं पर लाने को! कहूं तो मुझे पूरा यकींन है कि!!
तुम आसमान को मेरे कदमों तले बिछा दोगे! तुम सबसे जुदा हो इसलिए मुझे तुम पर भरोसा है!!

खुद को समेट के,
खुद में सिमट जाते है हम,|
जब याद तेरी आती है,
फिर से बिखर जाते है हम| ,

प्यार शुरू करने की शायरी

जादू है उसकी हर एक बात में,
याद बहुत आती है दिन और रात में,
कल जब देखा था सपना रात में,
तब भी उसका ही हाथ था मेरे हाथ में| ,

तेरी यादो को पसन्द आ गई है
मेरी आँखों की नमी,
हँसना भी चाहूँ तो
रूला देती है तेरी कमी…!! ,

इक तेरी याद का आलम
है कि बदलता ही नहीं
वरना वक़्त आने पे
हर चीज़ बदल जाती है ,

तेरी जरूरत, तेरा इंतजार
और ये तन्हा आलम,
थक कर मुस्कुरा देती हूँ,
मैं जब रो नहीं पाती हूँ !! ,

प्यार शुरू करने की शायरी हिंदी 

उसे मैं याद आता तो हूँ
फुरसत के लम्हों मे फराज़ !
मगर ये हकीकत है,
के उसे फुरसत नहीं मिलती ,

प्यार का रिश्ता भी
कितना अजीब होता है,
मिल जाये तो बातें लंबी
और बिछड़ जायें तो यादें लंबी| ,

 जागना भी कबूल हैं
तेरी यादों में रात भर,
तेरे एहसासों में जो सुकून है
वो नींद में कहाँ | ,

कभी तुम्हरी याद आती है
तो कभी तुम्हारे ख्व़ाब आते है
मुझे सताने के सलीके तो तुम्हें
बेहिसाब आते है !!,

प्यार शुरू करने की शायरी

कैसे अजीब लोग बसते हैं
तेरे शहर में,
शौक ए दोस्ती भी रखते हैं
और याद भी नहीं करते| ,

ज़माने के सवालों को
मैं हस के टाल दूँ फराज़
लेकिन नमी आंखों की कहती है,
मुझे तुम याद आते हो ,

दिल की किताब में गुलाब उनका था,
रात की नींद में ख्वाब उनका था,
कितना प्यार करते हो जब हम ने पूछा…
मर जाएंगे तुम्हारे बिना ये जवाब उनका था|,

आपकी परछाई हमारे दिल में है,
आपकी यादें हमारी आँखों में हैं,
आपको हम भुलाएं भी कैसे,
आपकी मोहब्बत हमारी सांसो में हैं।,

हिंदी  प्यार शुरू करने की शायरी

अक्सर जब हम उनको याद करते हैं,
अपने रब से यही फरियाद करते हैं,
उम्र हमारी भी लग जाए उनको,
क्योंकि हम उनको
खुद से भी ज़्यादा प्यार करते है| ,

माना कि तू नहीं है मेरे सामने
पर तू मेरे दिल में बसता हैं
मेरे हर दुख में मेरे साथ होता है
और हर सुख में मेरे साथ हसता है,

कुछ कर अब मेरा भी
इलाज ऐ हकीम-ए-मुहब्बत,
हर रात वो याद आता है
और मुझसे सोया नहीं जाता ,

घर बना के मेरे दिल में
वो इस कदर चली गयी,
ना तो खुद रहती है और ना
किसी और को रहने देती है| ,

ऐ जिंदगी ख़त्म कर
अब ये यादों के सिलसिले,
में थक सा गया हूँ
दिल को तसल्लियाँ देते-देते| ,

तुम्हारी आँखों की गहराई में,
खोना चाहता हूँ मैं,
भरकर तुम्हे अपनी बाहों में,
सोना चाहता हूँ मैं,

तझे भूलना तो चाहा
लेकिन भुला ना पाये,
जितना भुलाना चाहा
तुम उतना याद आये| ,

हो जाओ गर तनहा कभी
तो मेरा नाम याद रखना,
मुझे याद हैं सितम तेरे,
तू मेरा प्यार याद रखना| ,

कुछ तो बात है
तेरी फितरत में ऐ दोस्त,
वरना तुझ को याद करने की
खता हम बार-बार न करते!