pyar-me-dil-tutne-wali-shayari

प्यार में दिल टूटने वाली शायरी

प्यार में दिल टूटने वाली शायरी Pyar Me Dil Tutne Wali Shayari Status पल पल उसका साथ निभाते हम एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

प्यार में दिल टूटने वाली शायरी

pyar-me-dil-tutne-wali-shayari-2

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा, मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

धोखा भी बादाम की तरह है जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन पर चुप रहा क्यूंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ पर उसके बिना नहीं

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक, हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते

टुटा हो दिल तो दुःख होता है करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है दर्द का अहसास तो तब हो और उसके दिल में कोई और होता है

पल पल उसका साथ निभाते हम एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते है- जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते है

धोका तो क्या तुम ज़हर भी देते तो हम ख़ुशी ख़ुशी खा लेते।

काफी देखे होंगे तुमने आंसू ख़ुशी के कभी मिलो हम तुम्हे गम की हंसी दिखाएंगे।

हम दोनों को ही मौके मिले फ़र्क़ इतना था हमने मौका मिलते ही अपनी चाहत का इज़हार किया और उन्होंने मौका मिलते ही हमे धोका दे दिया।

धोका देती है शरीफ चेहरों की चमक अक्सर हर कांच का टुकड़ा हीरा नहीं होती।

ज़िन्दगी में ये सबक अनोखा मिलता है, जिसे चाहो तहे दिल से उसी से धोका मिलता है।

जानता था धोका मिलेगा उस से एक दिन पर इसके बावजूद भी हर दिन मैंने उस पर आँख बंद कर भरोसा किया।

जिस्म राख है ज़िन्दगी बस एक ख़्वाब है, असली चेहरा नहीं ये जो सामने से दिखता है ये सब फरेब है सब नकाब है।

आँखे बंद कर इन रास्तों पर भरोसा मत करना जनाब ये तुम्हे वहां ले जा कर छोड़ेंगे जहाँ तुम कहीं के नहीं रह जाओगे।

हर अपना यहाँ सपने की तरह है जब आँख खुलती है तो ख़्वाब और भरोसा एक साथ टूट जाता है।

मत पूछ मैंने क्या-क्या देखा है बस अंदाजा लगा ले ये जान कर की मैंने अमीर से अमीर का ज़मीर भी बिकते देखा है।

उम्मीद की बनावट ही कांच की होती है उसका टूटना तो उसके बनने से पहले ही तय होता है।

अब धुंदली दिखती है हर रिश्ते की नीव मेरे अपनों ने मेरी आँखों में धुल जो इतनी झोंकी है।

गलती तेरी नहीं जो तूने मुझे धोका दिया गलती तो मेरी है जो तेरे गैर होने बावजूद भी तुझे मुझे अपनाने का मौका दिया।

बिछड़ कर भी बिछड़ा नहीं हु तुमसे अब तो तभी बिछड़ पाउगा जब साँसे बिछ्ड़ेगी हमसे।

धोका खाने वाले को बस गम मिलता है नुक्सान तो उसका होता है जिसने एक छोटे से धोके की वजह से अपना खो दिया।

धोका जो तुम ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर किसी को दे कर आए हो याद रखना वही धोका तुम्हे ज़िन्दगी के किसी मोड़ पर किसी और से ज़रूर मिलेगा।

अब नीचे देख के चलता हूँ रास्तों पर, कहीं कोई दो मुँह वाला दोस्त सांप बन कर डस ना ले।

मेरे अपने बहुत है पर उनमे से मेरा अपना कोई भी नहीं है।

गैर नसीहत देते हैं और अपने साथ तक नहीं देते, जब गिर जाता है इंसान मुसीबत के गड्ढे में उसके अपने उसे हाथ तक नहीं देते।

अब और भूख नहीं मुझे मोहोब्बत की मैंने एक बार धोका खा कर ही पेट भर लिया है।

जो दिखाई देता है वो हमेशा सच नहीं होता, किसी के आँखें धोके में है तो किसी की आँखों में धोका है।

एक दिन गुस्से में पूछा ज़िन्दगी ने मेरे पास आ कर, बोली क्या पा लिया धोके के सिवाय उसके पास आकर।

आज मैं रो रहा हूँ तेरे लिए तू कल किसी और के लिए रोएगा इतना समझ ले वक़्त के पन्ने पलटते ज्यादा देर नहीं लगती।

मुझे गिरने पर आज तक किसी ने नहीं उठाया पर मेरी मजबूरी का फायदा सभी ने उठाया है।

किसने कहा की हम झूठ नहीं बोलते एक दफा हमारी खैरियत पूछ कर तो देखो।

ये बात अब ज्यादा राज़ नहीं है हर धोकेबाज़ आज कल यही कहता फिरता है की वो औरों की तरह धोकेबाज़ नहीं है।

जिस जिस पर भी हमने आँख बंद कर भरोसा किया है आलम ऐसा रहा है की हर उस शख्स ने हमारी आँखे खोल कर रख दी है।

वो पहला नहीं था जिसने मुझे धोका दिया था पर उस पर यकीन इतना था की उसने मुझे चौंका दिया था।

उसकी चाहत में मैंने क्या क्या नहीं देखा, पर रोया सिर्फ उस दिन जब धोका दे कर मेरी तेरी तरफ मुड़कर भी नहीं देखा।