peeth-piche-dhoka-shayari

पीठ पीछे धोखा शायरी Peeth Piche Dhoka Shayari Status Quotes

पीठ पीछे धोखा शायरी Peeth Piche Dhoka Shayari Status Quotes हर कदम हर पल हम आपके साथ है, भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं, जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों, लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

पीठ पीछे धोखा शायरी

peeth-piche-dhoka-shayari-hindi

हाथों की लकीरों के फरेब में मत आना, ज्योतिषों की दुकान पर मुक्कदर नहीं बिकते।

पल पल उसका साथ निभाते हम एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

धोखा दिया था जब तूने मुझे. जिंदगी से मैं नाराज था, सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं. मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

आँखों से दूर दिल के करीब था, मैं उसका और वो मेरा नसीब था, न कभी मिला न जुड़ा हुआ, हमारा रिश्ता भी कितना अजीब था। ..

वो बात क्या करें जिसकी कोई खबर ना हो। वो दुआ क्या करें जिसका कोई असर ना हो। कैसे कह दे कि लग जाय हमारी उमर आपको। क्या पता अगले पल हमारी उमर ना हो।

हर कदम हर पल हम आपके साथ है, भले ही आपसे दूर सही, लेकिन आपके पास हैं, जिंदगी में हम कभी आपके हो या न हों, लेकिन हमे आपकी कमी का हर पल एहसास हैं।

मरना भी मुश्किल है जिस शख्श के वगैर, उस शख्स ने ख्वाबों में भी आना छोड़ दिया​।

तेरी दोस्ती ने दिया शकुन इतना की तेरे बाद कोई अच्छा भी न लगे तुझे करनी है बेवफाई तो इस क़दर करना की तेरे बाद कोई बेवफा भी न लगे

अभी सूरज नहीं दोबा ज़रा शाम होने दो में खुद लौट जओंग्गा मुझे नाकाम तो होने दो मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है ज़माना में खुद हूँ जाऊंगा बदनाम पहेले मेरा नाम तो हुने दो

गुमनामी का अँधेरा कुछ इस तरह छा गया है, कि दास्ताँ बन के जीना भी हमें रास आ गया है।

उनकी कमी से दिल मेरा उदास है, पर मुझे तो आज भी उनके मिलने की आस है, ज़ख़्म नही पर दर्द का एहसास है, ऐसा लगता है दिल का एक टुकड़ा आज भी उनके पास है.

पहले ज़िंदगी छीन ली मुझसे, अब वो मेरी मौत का भी फ़ायदा उठाती है, मेरी क़बर पे फूल चढाने के बहाने, वो किसी और से मिलने आती है..!!!

हम वो नही जो तुम्हे गम में छोड़ देंगे , हम वो नही जो तुजसे नाता तोड़ देंगे , हम वो हे जो तुम्हारी साँसे रुके तो , अपनी साँसे छोड़ देंगे ..

समझ लेते हैं हम उनकी दिल की बात को, वो हमें हर बार धोका देते है, लेकिन हम भी मजबूर हैं दिल से, जो उन्हें बार बार मौका देते हैं…!

इस इश्क ने हम दोनों पे ही सितम ढाए हैं फरेब तुमने भी खाए हैं धोके हमने भी खाए हैं

दीवानगी का सितम तो देखो कि धोखा मिलने के बाद भी चाहते है हम उनको .

मुझ पर हक तुमने उस दिन खो दिया था जिस दिन तुमने मुझे धोखा दिया था .

यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे , ख़ुशी है कि तुम उम्मीद पे खरे उतरे।

हम उसे याद बहुत आएँगे , जब उसे भी कोई ठुकराएगा।

रिश्तों को वक़्त और हालात बदल देते है , अब तेरा ज़िक्र होने पर हम बात बदल देते है।

बिछड़ कर भी बिछड़ा नहीं हु तुमसे अब तो तभी बिछड़ पाउगा जब साँसे बिछ्ड़ेगी हमसे .

2 सच्चे दिल जब मिलते है तो धोखे का वजूद नहीं छोड़ते.

महसूस कर रहे है तेरी लपरवाहिया कुछ दिनों से , अगर हम बदल गए तो मनाना तेरे बस की बात नहीं।

हम आइना है आइना ही रहेंगे , फिक्र वो करे जिनकी शकल में कुछ और दिल में कुछ है।

प्यार निभाने के लिए , मैं हमेशा झुकता रहा और तुम इसे मेरी औकात समझ बैठे।

तुमने हमें धोखा दिया, मगर तुम्हे प्यार मिले। मुझसे भी ज़्यादा दीवाना, तुम्हे कोई यार मिले।

उस धोकेबाज़ ने बेशक मेरा दिल तोडा मगर दिल के उन्ही टुकडो में आज भी वो धोकेबाज़ बसा है.

तेरे बिन टूट कर बिखर जाएंगे , तुम मिल जाओ तो गुलशन की तरह खिल जाएंगे तुम ना मिली तो जीते जी मर जाएंगे तुम्हे जो पा लिया तो मर कर भी जी जाएंगे।