मैसेज-न-करने-पर-शायरी

मैसेज न करने पर शायरी | Message Na Karne Ki Shayari

मैसेज न करने पर शायरी | Message Na Karne Ki Shayari ऐ दोस्त तेरी दोस्ती पर नाज़ करते है हर वक्त मिलने की फरियाद करते है हमे नही पता लेकिन घरवाले बताते है कि हम नींद में भी आपसे बात करते हैं 

मैसेज न करने पर शायरी

message-na-karne-ki-shayari

#1 मोहब्बत मुझे थी उसी से सनम!
यादों में उसकी यह दिल तड़पता रहा!
मौत भी मेरी चाहत को रोक न सकी!
कब्र में भी दिल धड़कता रहा! मैसेज आता रहा 

#2 सौ गुना बढ़ जाती है खूबसूरती,
महज़ मुस्कराने से,
फिर भी मैसेज  नही आने लगे,
मुँह फुलाने से ।

#3 हमने पूछा ऊनसे हमारे अलावा किसी और से भी
मोहब्बत है तुम्हे तो वो मुस्कुरा कहे गये
ऊड़ते परीदों का कभी एक आशीयाना नही होता

मैसेज न करने पर शायरी

#4 ज़िन्दगी एक हसीन ख़्वाब है ,
जिसमें जीने की चाहत होनी चाहिये,
ग़म खुद ही ख़ुशी में बदल जायेंगे,
सिर्फ मुस्कुराने की आदत होनी चाहिये..

#5 मुँह माँगा दाम दूँगा यारो,
मुझे ऐसे क़ाबिल सपेरे से मिलवा दो,
जो आस्तीन मे छुपे साँपो को निकाल दे

#6 Aajeeb. लड़की थी वो
Zindagi. बदल कर खुद ही बदल गायी!
कोई. कहता है कि अगर Naseeb होगा मेरा तो हम उनको जारुर
पाये गे! हम Puchte है रब से Ager हम बद नसीब हुवे तो
उनके बिना कैसे जी पाये गे….