ladko-ki-shayari-ladkiyo-ke-liye

लड़कों की शायरी लड़कियों के लिए

लड़कों की शायरी लड़कियों के लिए तेरी आंखें जादू कर गईं, दिल में आंसू भर गईं हंसती हुई जो मैं जिंदा थी, रोते-रोते मर गई कैसे मैं समझूं तुमको, लड़का लड़कियों की शायरी कैसे तू समझे मुझको जब जुबां न बोलने की कसमें खाके अड़ गई पास आने के लिए कितनी मोहलत चाहिए एक मुद्दत से बहार आते-आते गुजर गई फासलों में फासले हैं, हर जुदाई में हिज्रां एक गम हैं सौ तरह के, झेलकर मैं मर गई

लड़कों की शायरी लड़कियों के लिए

लड़कों_की_शायरी_लड़कियों_के_लिए

1.हम तो बिछडे थे तुमको अपना अहसास दिलाने के लिए,
मगर तुमने तो मेरे बिना जीना ही सिख लिया…!!

2.ना वादा है और ना कोई क़समें है….
फिर भी यह दिल तेरी ही मोहब्बत के बस में है..

3.वो कहती हैं तुम छोड क्यों नही जाते इतनी तकलीफ देती हुं तो….
मैंने कहा साँस लेने में उलझन आए तो क्या जीना हीं छोड दूँ…..

4.मुझे बहुत प्यारी है, तुम्हारी दी हुई हर एक निशानी…
चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी….

5.एक दिन आख़िर महल को तो खंडर होना ही था
ख़्वाहिशें थी ख्वाहिशों को दरबदर होना ही था

6.हाथो की लकीरों के फरेब में मत आना,
ज्योतिषो की दूकान पर मुक्कदर नहीं बिकते ।

7.कितना भी समेट लो..
हाथों से फिसलता ज़रूर है..
ये वक्त है साहब..
बदलता ज़रूर है..

8.तुम्हारी आँखों में बसा है आशियाना मेरा,
अगर ज़िन्दा रखना चाहो तो कभी आँसू मत लाना।

9.दिल में बसे हो जरा ख्याल रखना
अगर वक़्त मिलजाए तो याद करना
हमें तो आदत है तुम्हें याद करने की
तुम्हें बुरा लगे तो माफ़ करना

10.कभी थक जाओ तुम दुनियाँ की महफिल से,
हमे आवाज दे देना,हम अक्सर अकेले होते है !!