kiss-day-shayari

[2021] kiss day shayari In Hindi For BF & GF किस डे शायरी

किस डे शायरी | 2021 kiss day shayari In Hindi For BF & GF | SMS Quotes, Status Kiss Day GirlFriend & Boyfriend For Whatsapp Sttaus In Hindi 2021 Download किस शायरी फोटो 

kiss day shayari In Hindi

kiss-day-shayari-In-Hindi

1.मोहब्बत के रंग में डूबी शाम हो,
एक नै शुरवात का पैगाम हो,
मिले तेरे होठ मेरे होठों से ऐसे
जेसे मेरे होठ तेरे और तेरे होठ मेरे नाम हो

2.शरबती होंठों से मैं ये जाम पीना चाहता हूँ,
बस दो पल तेरी बाँहों में ख़ुशी से जीना चाहता हूँ,
अपना बना ले मुझे की तेरा आशिक हूँ,
मैं तो बस तेरा हो के रहना चाहता हूँ।
Kiss Day Shayari Hindi

3.याद रुकती नही रोक पाने से.
दिल मानता नही किसी के समझाने से
.रुक जाती है धड़केने आपको भूल जाने से.
इसलिये आपको याद करते है जीने के बहाने से.

4.तेरे “होंठो” चुमा तो ऐहसास हुआ,
सिर्फ एक पानी ही जरूरी नहीं है
प्यास बुझाने के लिए

5.दिल अब बस तुझे ही चाहता है
तेरी यादों में ये खो जाता है
लग गई है इसमें इश्क़ की आग ऐसी
की तेरे होंठों को चूमने को दिल चाहता है

6.होती नही मोहब्बत सूरत से,
मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद ही प्यारी लगती है,
कद्र जिनकी दिल में होती है…
Happy kiss Day Shayari

7.तेरी ख़ुशी की खातिर मैंने कितने ग़म छिपाए..
अगर मैं हर बार रोता तो तेरा शहर डूब जाता !!

8.”वो हमारा इमतिहान क्या लेगी,
मिलेगी नजरों से नजर तो नजर झुका लेगी,
उसे मेरी कब्र पर दिया जलाने को मत कहना,
वो नादान है दोस्तो अपना हाथ जला लेगी।”

9.”याद किसी को करना यह बात नही जताने की,
दिल पर चोट देना आदत है जमाने की,
हम आप को याद बिल्कुल नही करते,
क्यूँ की याद करना एक निशानी है भूल जाने की.”

10.जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया;
आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया;
एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि;
हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये;
उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया।

11.मेरी बर्बादी पर तू कोई मलाल ना करना;
भूल जाना मेरा ख्याल ना करना;
हम तेरी ख़ुशी के लिए कफ़न ओढ़ लेंगे;
पर तुम मेरी लाश ले कोई सवाल मत करना!

12.दर्द है दिल में पर इसका एहसास नहीं होता;
रोता है दिल जब वो पास नहीं होता;
बर्बाद हो गए हम उसके प्यार में;
और वो कहते हैं इस तरह प्यार नहीं होता।

13.दिल के दर्द छुपाना बड़ा मुश्किल है;
टूट कर फिर मुस्कुराना बड़ा मुश्किल है;
किसी अपने के साथ दूर तक जाओ फिर देखो;
अकेले लौट कर आना कितना मुश्किल है।

14.वो जज़्बों की तिजारत थी,
यह दिल कुछ और समझा था;
उसे हँसने की आदत थी,
यह दिल कुछ और समझा था;
मुझे देख कर अक्सर वो निगाहें फेर लेते थे;
वो दर-ए-पर्दा हकारत थी,
यह दिल कुछ और समझा था।