Best 2021+ जोशीली शायरी Joshili shayari With Images

joshili shayari जोशीली शायरी  Share on Friends Whatsapp & Facebook For जोशीली शायरी Read And Enjoy Life

जोशीली शायरी

अपने हौंसले को यह मत बताओ कि तुम्हारी तकलीफ कितनी बड़ी है

अपनी तकलीफ को यह बताओ कि तुम्हारा हौंसला कितना बड़ा है

Joshili shayari

अपनी तकदीर में तो कुछ ऐसे ही सिलसिले लिखे हैं;

किसी ने वक़्त गुजारने के लिए अपना बनाया;

तो किसी ने अपना बनाकर ‘वक़्त’ गुजार लिया!

जोशीली शायरी

तरसते थे जो मिलने को हमसे कभी!

आज वो क्यों मेरे साए से कतराते हैं!

हम भी वही हैं दिल भी वही है!

न जाने क्यों लोग बदल जाते हैं!

Joshili shayari

मोहब्बत नहीं है कोई किताबों की बाते!

समझोगे जब रो कर कुछ काटोगे रातें!

जो चोरी हो गया तो पता चला दिल था हमारा!

करते थे हम भी कभी किताबों की बाते!

जोशीली शायरी

कहती है दुनिया जिसे प्यार, नशा है ,

खताह है! हमने भी किया है प्यार ,

इसलिए हमे भी पता है!

मिलती है थोड़ी खुशियाँ ज्यादा गम!

पर इसमें ठोकर खाने का भी कुछ अलग ही मज़ा है!

Joshili shayari

दिल से रोये मगर होंठो से मुस्कुरा बेठे!

यूँ ही हम किसी से वफ़ा निभा बेठे!

वो हमे एक लम्हा न दे पाए अपने प्यार का!

और हम उनके लिये जिंदगी लुटा बेठे!

जोशीली शायरी In Hindi

Joshili shayari

हर सागर के दो किनारे होते है,

कुछ लोग जान से भी प्यारे होते है,

ये ज़रूरी नहीं हर कोई पास हो,

क्योंकी जिंदगी में यादों के भी सहारे होते है.

जोशीली शायरी

कहते है..

प्यार की शुरूआत आँखो से होती है,

पर यकीन मानो..

दोस्तो,

प्यार की कीमत भी आँखो को ही चुकानी पङती.

Joshili shayari

हमारे चले जाने के बाद ये समंदर की रेत तुमसे पूछेगी,.

कहाँ गया वो शख्स जो तन्हाई में आकर बस तेरा ही नाम लिखा करता था,.

Joshili shayari

वफ़ा  करने से मुकर गया है दिल;

अब प्यार करने से डर गया है दिल;

अब किसी सहारे की बात मत करना;

झूठे दिलासों से भर गया है अब यह दिल।

जोशीली शायरी

कितने तोहफे देती है ये मोहब्बत भी यार;

दुःख अलग रुस्वाई अलग,

जुदाई अलग तन्हाई अलग

तन्हाई से दर नही लगता मुझे,

महफ़िल से घबरा जाता हूँ मैं,

कोशिश करता हूँ यादें दफ़नाने की,

मगर तुझको भूल नही पता हूँ मैं…

wife Joshili shayari

ना डरा मुझे ऐ वक़्त नाकाम होगी तेरी हर कोशिशे,

ज़िन्दगी के मैदान में खड़ा हूँ दुवाओं का लश्कर ,

लेकर तेरी तलाश में निकलू भी तो क्या फायदा

तुम बदल गए हो खो गए होते तो और बात थी ।

जोशीली शायरी

इस अहद के इन्साँ मे वफ़ा ढूँढ रहे हैं;

हम ज़हर की शीशी मे दवा ढूँढ रहे हैं

दुनिया को समझ लेने की कोशिश में लगे हम;
उलझे हुए धागों का सिरा ढूँढ रहे हैं,

पूजा में, नमाज़ों में, अज़ानों में, भजन में;
ये लोग कहाँ अपना ख़ुदा ढूँढ रहे हैं,

पहले तो ज़माने में कहीं खो दिया ख़ुद को;
आईने में अब अपना पता ढूँढ रहे हैं

,

husband Joshili shayari

कोई खुशियों की चाह में रोया.

कोई दुखों की पनाह में रोया..

अजीब सिलसिला हैं ये ज़िंदगी का..

कोई भरोसे के लिए रोया..

कोई भरोसा कर के रोया..

wife husband Joshili shayari

दुःख देते हो खुद और खुद ही सवाल करते हो;

तुम भी ओ सनम, कमाल करते हो;

देख कर पूछ लिया है हाल मेरा;

चलो शुक्र है कुछ तो ख्याल करते हो।

जोशीली शायरी

°° कमाल है ना °°

आखें तालाब नहीं,

फिर भी, भर आती हैं … और ….

इंसान मौसम नहीं,

फिर भी, बदल जाता है ..

Joshili shayari

एक आईने की दुकान की दीवार पर लिखा था….

तेरी पहचान ही न खो जाए कहीं….

इतने चेहरे ना बदल थोड़ी सी शोहरत के लिए

..

Joshili shayari

फूल रह जाएँगे गुलदान मे यादोँ की नज़र,

मै तो खुश्बू हूँ हवाओँ मे बिखर जाऊँगा ।

ज़िन्दगी मै भी मुसाफिर हूँ तेरी कश्ती का,

तू जहाँ मुझसे कहेगी मै उतर जाऊँगा

Joshili shayari

बहुत अलग सा है, मेरे इश्क का हाल…

तेरी एक खामोशी और मेरे लाखों सवाल…

गीली लकडी सा इश्क उन्होने सुलगाया है…

ना पूरा जल पाया कभी, ना बुझ पाया है...

जोशीली शायरी

होती अगर मोहब्बत बादल के साये की तरह,

तो मैं तेरे शहर में कभी धूप ना आने देता।

भीगी आँखों से मुस्कराने में मज़ा कुछ और है,

हंसते हंसते पलके भीगने में मज़ा कुछ और है

बात कहकर तो हर कोई समझ लेता है,

पर खामोशी समझे तो मज़ा कुछ और है…!!

इश्क़ में जलने वाले से कह दो अब

वो फ़ना पल-पल होगा इश्क़ कर लो

फ़िर मज़े देखो लब्ज़ हर

इक अब ग़ज़ल होगा।

जोशीली शायरी

जख्म तो हम भी अपने दिल पर तुमसे भी गहरे रखते हैं,

पर हम अपने जख्मों पर मुस्कुराहटों के पहरे रखते है,,

Joshili shayari

सत्य को कहने के लिए किसी, “”शपथ “” 

की जरूरत नहीं होती।

नदियों को बहने के लिए किसी, “” पथ “”

की जरूरत नहीं होती।

Joshili shayari

जो बढ़ते हैं जमाने में,

अपने मजबूत इरादों पर,

उन्हें अपनी मंजिल पाने के लिए, “” रथ “”

की जरूरत नहीं होती

Joshili shayari

कभी किसीसे इतना भी करीब मत हो जाओ,

की उसके चले जाने से आपको जीने की वजह ढूंढनी पड़े !!

जोशीली शायरी

दीपक तो अंधेरे में जला करते है,

 फुल तो कांटो में भी खिला करते है,

थक कर न बैठ ए मंजिल के मुसाफिर,

हीरे अक्सर कोयले में ही मिला करते है !!

Joshili shayari

मुझे घमंड था की मेरे चाहने वाले बहुत है इस दुनिया में,

बाद में पता चला की सब चाहते है अपनी ज़रूरत के लिए..

जोशीली शायरी

लफ्ज ही होते हैं इंसान का आइना,

शक्ल का क्या,

वो तो उम्र और हालात के साथ

अक्सर बदल जाती हैं..

Joshili shayari

जान ले लेता है वो एक छोटा सा पल भी…..

जब बेहिसाब प्यार के बाद वो कहे की हम कभी एक नहीं हो सकते..

Joshili shayari

दिल के टूटने से नही होती है आवाज़!

आंसू के बहने का नही होता है अंदाज़!

गम का कभी भी हो सकता है आगाज़!

और दर्द के होने का तो बस होता है एहसास

!

जोशीली शायरी

न जाने क्यों हमें आँसू बहाना नहीं आता!

न जाने क्यों हाल-ऐ-दिल बताना नहीं आता!

क्यों सब दोस्त बिछड़ गए हमसे!

शायद हमें ही साथ निभाना नहीं आता!

Joshili shayari

दिलों में खोट है ज़ुबां से प्यार करते हैं…

बहुत से लोग दुनिया में यही व्यापार करते हैं

मोह

Joshili shayari

ब्बत यूँ ही किसी से हुआ नहीं करती….,

अपना वजूद भूलाना पडता है,

किसी को अपना बनाने के लिए..

Joshili shayari

अपनी सोच को पानी के कतरो से भी ज्यादा साफ रखो

क्योंकि… 

जिस तरह कतरो से दरिया बनता है

उसी तरह सोचो से अपना अन्दर का इमान बनता है…!!

जोशीली शायरी

मेरी दोस्ती के जादु से तुम अभी वाकीफ नहीं हो!

हम तो उसे भी जीना सिखा देते है जो मरने कि ठान ले!!!!!!!

Joshili shayari

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे!

बड़ी दुआओं से पाया है तुझे! तु

झे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे!

किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे!

Joshili shayari

शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये जीवन के वो

हसीं पल मिल जाये चल फिर से बैठें वो

क्लास कि लास्ट बैंच पे शायद फिर से वो

पुराने दोस्त मिल जाएँ

Joshili shayari

जो दिल में आये वो सब करना बस एक गुज़ारिश है ..

किसी से अधूरा ‘प्यार’ मत करना…

जोशीली शायरी

कितना आसान है किसी को अपना कहना,

जब तक़दीर फ़ैसले सुनाती है, तो रोया भी नहीं जाता

Joshili shayari

चाह कर भी पूछ नहीँ पाते अब हाल उनका..!!

डरते हैँ कहीँ वो कह ना दे तुम्हेँ ये हक़ दिया किसने..!!

Joshili shayari

जब तक आँखो मै दम है तेरा इंतजार रहेगा

सांस की आखिरी हद तक मेरा प्यार रहेगा

लोट आना जानं निकलने से पहले ही

सनम वरना उस जन्म मे भी मेरी चाहत का उधार रहेगा

जोशीली शायरी

बढ़ी जो हद से तो सारे तिलिस्म तोड़ गयी;

वो खुश दिली जो दिलों को दिलों से जोड़ गयी;

अब्द की राह पे बे-ख्वाब धड़कनों की धमक;

जो सो गए उन्हें बुझते जगो में छोड़ गयी।

जोशीली शायरी

हर तरफ तेरी तस्वीर नजर आती है

और आज ऐ किसने किताबों को खुला छोड़ दिया

यह बफा तोड के जाने वालेक्या

तूने मुझे हमेशा के लिए  छोड़ दिया