झकास_शायरी

झकास शायरी Jhakaas Shayari

झकास शायरी  | Jhakaas Shayari For Best Shayari For Hindi परवाह करनेवाले अक्सर रुला जाते है, अपना कहकर पराया कर जाते है, वफ़ा जितनी भी करो कोई फर्क नहीं, मुझे मत छोड़ना कहकर खुद छोड़ जाते है.. झकास शायरी

झकास शायरी

Jhakaas-Shayari

1.”गहरी थी रात लेकिन हम खोये नही…
दर्द बहुत था दिल में लेकिन हम रोये नही….
कोई नहीं हमारा जो पूछे हमसे….
जाग रहे हो किसी के लिए या किसी के लिए सोये नही…”

2.कितनी जल्दी थी उसको रूठ जाने की,
आवाज़ तक न सुनी दिल के टूट जाने की

3.”काश वो समझते इस दिल की तड़प को,
तो यूँ हमें रुसवा ना किया होता,
उनकी ये बेरुखी भी मंज़ूर थी हमें,
बस एक बार हमें समझ लिया होता.”

4.अगर ज़िद्द तुम्हारी रुठने की है;
तो हमारी ज़िद्द भी तुम्हें मनाने की है;
तुम लाख कोशिश करो हमसे दूर जाने की;
हमारी कोशिश बस ये दूरियां मिटाने की है।

5.यादों की किम्मत वो क्या जाने,
जो ख़ुद यादों के मिटा दिए करते हैं,
यादों का मतलब तो उनसे पूछो जो,
यादों के सहारे जिया करते हैं.

6.जरा तमीज़ से बटोरना, बुझे दियों को दोस्तों!
इन्होने कल अमावस की अन्धेरी रात मे हमे रौशनी दी थी…
किसी और को जलाकर खुश होना अलग बात है,
इन्होने तो खुद को जलाकर हमे खुशी दी थी।

7.मौत ने पुछा- मैं आऊँगी तो स्वागत करोगे कैसे..
मैंने कहा – राह में फूल बिछाकर पूछुंगा ….
कि आने में इतनी देर कैसे ?

8.बदन की कैद से बाहर ठीकाना चाहता है
अजीब दील है फिर उस बेवफा के पास जाना चाहता है

9.मेरे दुश्मन भी, मेरे मुरीद हैं शायद,
वक़्त बेवक्त मेरा नाम लिया करते हैं ,
मेरी गली से गुज़रते हैं छुपा के खंजर,
रु-ब-रु होने पर सलाम किया करते हैं !

10.रास्ता सुझाई देता है,
न मंजिल दिखाई देती है,
न लफ्ज़ जुबां पर आते हैं,
न धड़कन सुनाई देती है,

11.एक अजीब सी कैफियत ने
आन घेरा है मुझे,
की हर सूरत में,
तेरी सूरत दिखाई देती है…

12.मैं फ़ना हो गया अफ़सोस वो बदला भी नहीं;
मेरी चाहतों से भी अच्छी रही नफरत उसकी..

13.गुजर गया वक्त जब हम तुम्हारे तल्बगार थे,
अब जिंदगी बन जाओ तो भी हम कबूल नही करेंगे..

14.तन्हाई अक्सर पूछती हे हमसे,
क्या आज भी इंतजार हे उसके लौट आने का,
ये दिल मुकुर के कहता हे,
मुझे अब तक यकीन नहीं उसके चले जाने का..

15.हसीन आँखों को पढ़ने का अभी तक शौक है मुझको,
मुहब्बत में उजड़ कर भी मेरी ये आदत नहीं बदली..

16.क्या पता था प्यार करके दिल तोड़ जाएगी,
दिल में प्यार भर के मुह मोड़ जाएगी,
ऐ बेवफा तू जिससे भी दिल लगाएगी
देखना कभी चैन की साँस ना ले पायेगी.

17.मुझे किसी के बदल जाने का गम नही,
बस कोई था, जिस पर खुद से ज्यादा भरोसा था..

18.लगाकर आग़ सीने में,कहाँ चले हो तुम हमदम,
अभी तो राख़ उडने दो, तमाशा और भी होगा..