hurt-shayari

Best Hurt Shayari In Hindi 2022 हार्ट शायरी Status Quotes

Best Hurt Shayari In Hindi 2022 हार्ट शायरी Status Quotes Messages हर्फ़-हर्फ़ इस कदर था तल्खियों से भरा, आखिरी ख़त तेरा दीमक से भी खाया ना गया। Share On Facebook Whatsapp 

Hurt Shayari In Hindi

hurt-shayari-1

❤️‍🔥🥺👎🥺 सुना है उस को मोहब्बत दुआएँ देती है, जो दिल पे चोट तो खाए मगर गिला न करे। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 चुप हैं किसी सब्र से तो पत्थर न समझ हमें, दिल पे असर हुआ है तेरी बात-बात का। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 बरबाद बस्तियों में तुम किसको ढूंढ़ते हो, उजड़े हुए लोगों के ठिकाने नहीं होते। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 ज़ख्म देने का तरीका कोई न मिला उन्हें, महफ़िल में छेड़ते रहे ज़िक्र-ए-वफा बार-बार। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 इस सलीके से मुझे क़त्ल किया है उसने, दुनिया अब भी समझती है कि ज़िंदा हूँ मैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

Hurt Shayari In Hindi

❤️‍🔥🥺👎🥺 हर्फ़-हर्फ़ इस कदर था तल्खियों से भरा, आखिरी ख़त तेरा दीमक से भी खाया ना गया। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 कुरेद-कुरेद कर बड़े जतन से हमने रखे हैं हरे, कौन चाहता है कि उनका दिया कोई ज़ख्म भरे। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नमक तुम हाथ में लेकर सितमगर सोचते क्या हो, हजारो ज़ख्म हैं दिल पर जहाँ चाहो छिड़क डालो। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 एहसान किसी का वो रखते नहीं मेरा भी चुका दिया, जितना खाया था नमक मेरा मेरे जख्मों पे लगा दिया। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नमक भर कर मेरे ज़ख्मों में तुम क्या मुस्कुराते हो, मेरे ज़ख्मों को देखो मुस्कुराना इस को कहते हैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

hurt-shayari-2

❤️‍🔥🥺👎🥺 मेरी चाहत को मेरी हालत की तराजू में ना तोल, मैंने वो ज़ख्म भी खाये जो मेरी किस्मत में नहीं थे। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 तू भी औरों की तरह मुझसे किनारा कर ले, सारी दुनिया से बुरा हूँ तेरे काम का नहीं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 तू भी औरों की तरह मुझसे किनारा कर ले, सारी दुनिया से बुरा हूँ तेरे काम का नहीं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 तुम लौट के आने का तकल्लुफ मत करना, हम एक मोहब्बत को दो बार नहीं करते। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 मैं उसके चेहरे को दिल से उतार देता हूँ, मैं कभी कभी तो खुद को भी मार देता हूँ। ❤️‍🔥🥺👎🥺

Hurt Shayari

❤️‍🔥🥺👎🥺 दिए हैं ज़ख़्म तो मरहम का तकल्लुफ न करो, कुछ तो रहने दो मेरी ज़ात पे एहसान अपना। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 बस तुम्हेँ पाने की तमन्ना नहीं रही, मोहब्बत तो आज भी तुमसे बेशुमार करते हैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 तहज़ीब में भी उसकी क्या ख़ूब अदा थी, नमक भी अदा किया तो ज़ख़्मों पर छिड़क कर। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 उस ने हमारे ज़ख्म का कुछ यूँ किया इलाज़, मरहम भी ग़र लगाया तो काँटों की नोंक से। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 एक ये ख्वाहिश के कोई जख्म ना देखे दिल का, एक ये हसरत के कोई देखने वाला तो होता। ❤️‍🔥🥺👎🥺

hurt-shayari-3

❤️‍🔥🥺👎🥺 तरस गए हैं थोड़ी सी वफ़ा के लिए, किसी से प्यार न करेंगे खुदा के लिए, जब भी लगती है इश्क की अदालत, हम ही चुने जाते हैं सजा के लिए। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 सितम सह कर भी कितने ग़म छिपाये हमने, तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने, तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला, तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छुपाये हमने। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 वो याद आये भुलाते भुलाते, दिल के ज़ख्म उभर आये छुपाते छुपाते, सीखा था जिसे देख के मुस्कुराना, उसी ने आज रुलाया हँसाते हँसाते। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 बातों में तल्खी और लहजे में बेवफाई, लो ये मोहब्बत भी पहुँची अंजाम पर। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 सितम की ये इन्तेहाँ देखे ज़माना भी, कि जिसपे मरते थे उसी ने मार डाला। ❤️‍🔥🥺👎🥺

Hindi Hurt Shayari

❤️‍🔥🥺👎🥺 अश्क आँखों से दिल से बद्दुआ निकली, सितम किया याद जब कभी सितमगर का। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 वो एक बात बहुत तल्ख़ कही थी उसने, बात तो याद नहीं याद है लहज़ा उसका। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नए ज़ख्म के लिए तैयार हो जा ऐ दिल, कुछ लोग प्यार से पेश आ रहे हैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 बात ऊँची थी मगर बात जरा कम आंकी, मेरे जज्बात की औकात जरा कम आंकी, वो फ़रिश्ता कहकर मुझे जलील करता रहा, मैं इंसान हूँ मेरी जात जरा कम आंकी। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 हमने तो बस इतना ही सीखा है दोस्तों, राह-ए-वफ़ा में कभी किनारा नहीं मिलता, जो मिल जाये इस राह पर कभी यार से, वो ज़ख्म कभी फिर दोबारा नहीं सिलता। ❤️‍🔥🥺👎🥺

hurt-shayari-4

❤️‍🔥🥺👎🥺 दिए हैं ज़ख़्म तो #मरहम का तकल्लुफ न करो, कुछ तो रहने दो मेरी ज़ात पे एहसान अपना। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नमक तुम हाथ में लेकर, सितमगर सोचते क्या हो, हजारों जख्म है दिल पर, जहाँ चाहो छिड़क डालो। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 एहसान वो किसी का रखते नहीं, मेरा भी चुका दिया, जितना खाया था नमक मेरा, मेरे जख्मों पर लगा दिया। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नए जख्म के लिए तैयार हो जा ए-दिल कुछ लोग बहुत प्यार से पेश आ रहे हैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 जिन्दगी आज कल गुजर रही है इम्तिहानो के दौर से, एक जख्म भरता नही दूसरा आने की जिद करता है। ❤️‍🔥🥺👎🥺

Hurt Shayari 2022

❤️‍🔥🥺👎🥺 मेरी चाहत को मेरी हालत की तराजू में ना तोल, मैंने वो #ज़ख्म भी खाये जो मेरी तकदीर में नहीं थे। ❤️‍🔥🥺👎🥺  

❤️‍🔥🥺👎🥺 किसी की राह में नजरें बिछा कर कुछ नहीं मिलता, सारा जहाँ बेवफा है दिल लगाकर कुछ नहीं मिलता, कोई भी लौटकर आता नहीं आँसू बहाने से, किसी की याद में दिल को रुलाकर कुछ नहीं मिलता। ❤️‍🔥🥺👎🥺

🥺👎🥺 इश्क में किसी❤️‍🔥 का इंतज़ार मत करना, गर हो सके तो किसी से प्यार मत करना, कुछ नहीं मिलता किसी से इश्क करके, खुद की ज़िन्दगी इश्क में बेकार मत करना। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 दिल्लगी थी उसे हम से मोहब्बत कब थी, महफिल-ए- गैर से उसको फुरसत कब थी, वो कहते तो हम मोहब्बत में फ़ना हो जाते, उसके वादों में पर वो हकीकत कहाँ थी। ❤️‍🔥🥺👎🥺

hurt-shayari-5

❤️‍🔥🥺👎🥺 हर्फ़-हर्फ़ इस कदर था तल्खियों से भरा, आखिरी ख़त तेरा दीमक से भी खाया ना गया। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 तहज़ीब में भी उसकी क्या ख़ूब अदा थी, नमक भी अदा किया तो ज़ख्मों पर छिड़क कर। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 उसने हमारे ज़ख्म का कुछ यूँ किया इलाज़, मरहम भी गर लगाया तो काँटों की नोंक से। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 उम्मीद ना कर इस दुनिया में हमदर्दी की, बड़े प्यार से जख्म देते हैं शिद्दत से चाहने वाले। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 हमने तो बस इतना ही सीखा है दोस्तों, राह-ए-वफ़ा में कभी किनारा नहीं मिलता, जो मिल जाये इस राह पर कभी यार से, वो ज़ख्म कभी फिर दोबारा नहीं सिलता। ❤️‍🔥🥺👎🥺

Hurt Shayari

❤️‍🔥🥺👎🥺 जा और कोई ज़ब्त की दुनिया तलाश कर, ऐ इश्क़ अब हम तेरे क़ाबिल नहीं रहे। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 नए ज़ख्म के लिए तैयार हो जा ऐ दिल, कुछ लोग प्यार से पेश आ रहे हैं। ❤️‍🔥🥺👎🥺  

❤️‍🔥🥺👎🥺 मरहम न सही एक ज़ख्म ही दे दे, महसूस तो हो कि कोई हमें भूला नहीं। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 सितम की ये इन्तेहाँ देखे ज़माना भी, कि जिसपे मरते थे उसी ने मार डाला। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 सितम सह कर भी कितने ग़म छिपाये हमने, तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने, तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला, तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छुपाये हमने। ❤️‍🔥🥺👎🥺

❤️‍🔥🥺👎🥺 आकर जरा देख तेरी खातिर हम किस तरह से जिए, आँसू के धागे से सीते रहे हम जो जख्म तूने दिए। ❤️‍🔥🥺👎🥺