do-pyar-karne-walo-ki-shayari

दो प्यार करने वालों की शायरी Status Quotes

दो प्यार करने वालों की शायरी Status Quotes Messages Do Pyar Karne Walo Ki Shayari In Hindi New Best Latest Collection 2021 With Images Photos Share On Facebook Whatsapp 

दो प्यार करने वालों की शायरी

do-pyar-karne-walo-ki-shayari-hindi

सुर्ख आँखो से वो जब हमें देखती है, हम घबराकर अपनी आँखे झुका लेते है
डर लगता हैं उनसे, आंख मिलाने से सुना है वो निगाहों से अपना बना लेती है.

जब-जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है, मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है,
कैसे कहूँ तेरे बिना में ज़िंदा हूँ, क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुश्बु आती है

यूँ पल-पल हमें सताया ना कीजिये, इस तरह हमारे दिल को तड़पाया न कीजिये,
क्या पता कल हम हों ना हों इस जहाँ में❓ यूँ हमसे आप नजरें चुराया न कीजिये..

 “बिन देखे तेरी तस्‍वीर बना सकते हैं बिन मिले तेरा हाल बना सकते है
हमारे प्‍यार में इतना दम है की तेरे आसूं अपनी ऑख से गिर सकते हैं ”

तुम्हारी ज़िद बेमानी है दिल ने हार कब मानी है
कर ही लेगा वश में तुम्हें आदत इसकी पुरानी है.

दो प्यार करने वालों की शायरी

बरसात आये तो ज़मीन गीली न हो, धूप आये तो सरसों पीली न हो,
ए दोस्त तूने यह कैसे सोच लिया कि, तेरी याद आये और पलकें गीली न हों।

 ख्वाबो की दुनिया में हम खोते चले गए, ना थे मदहोश पर, मदहोश होते चले गए,
ना जाने क्या बात थी उसके चेहरे में ना चाहते हुए भी उनके होते चले गए…

यु ही साथ कुछ दूर हमारे साथ चलो, आज दिल की हम कहानी कह देंगे,
जो समझ ना सके आँखों की बात❓ आज वो बात तुम्हे हम जुबानी कह देंगे…

लोग कहते हैं कि इश्क मत करो, कि हुस्न सर पे सवार हो जाये,
हम कहते हैं कि इश्क इतना करो, कि पत्थर दिल को भी तुमसे प्यार हो जाये.

किसी को चाहो तो इस अंदाज़ से चाहो, कि वो तुम्हे मिले या ना मिले,
मगर उसे जब भी प्यार मिले, तो तुम याद आओ…!!

 “कोई दोस्त कभी पुराना नहीं होता, कुछ दिन बात न करने से बेगाना नहीं होता,
दोस्ती में दुरी तो आती रहती हैं, पर दुरी का मतलब भुलाना नहीं होता.”

दो प्यार करने वालों की शायरी हिंदी 

रात हुई जब शाम के बाद, आई तेरी याद हर बात के बाद,
खामोश रहकर हमने भी देखा, आवाज़ आई तेरी हर, सांस के बाद..

मिटाना भी चाहूँ तो भी मिटा नही सकता…!!
उसका नाम अपने दिल से… क्यूंकि मिटाए तो वो जाते हैं
जो गलती से लिखे जाते हैं…!

साथ अगर दोगे तो मुस्कुराएंगे ज़रूर, प्यार अगर दिल से करोगे तो निभाएंगे ज़रूर,
कितने भी काँटे क्यों ना हों राहों में, आवाज़ अगर दिल से दोगे तो आएंगे ज़रूर।

तेरी धड़कन ही ज़िंदगी का किस्सा है मेरा, तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा..
मेरी मोहब्बत तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है, तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा..!!

अंदाज-ऐ-प्यार तुम्हारी एक अदा है.. दूर हो हमसे तुम्हारी खता है..
दिल में बसी है एक प्यारी सी तस्वीर तुम्हारी.. जिस के नीचे ‘आई मिस यू’ लिखा है.

वो मोहब्बतें जो तुम्हारे दिल में हैं, उससे जुबां पर लाओ और बयां कर दो,
आज बस तुम कहो और कहते ही जाओ, हम बस सुनें ऐसे बे-ज़ुबान कर दो.

हमारी गलतियों से कही टूट न जाना, हमारी शरारत से कही रूठ न जाना,
तुम्हारी चाहत ही हमारी जिंदगी हैं, इस प्यारे से बंधन को भूल न जाना,

दो प्यार करने वालों की शायरी

वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे! दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको! क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?

 जब तक तुम्हें न देखूं! दिल को करार नहीं आता!
अगर किसी गैर के साथ देखूं! तो फिर सहा नहीं जाता!

कुछ सोचूं तो तेरा खयाल आ जाता है, कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है,
कब तक छुपाऊं दिल की बात, उसकी हर अदा पर मुझे प्यार आ जाता है !

 सिर्फ मैं ही हाथ थाम सकूँ उसका … मुझ पर इतनी इनायत सी कर दे …
वो रह ना पाये इक पल भी मेरे बिना … ऐ रब .. उसको मेरी आदत सी कर दे ..!!

 जब-जब में लेता हूँ साँस तू याद आती है, मेरी हर एक साँस मे तेरी खुश्बू बस जाती है,
कैसे कहूँ तेरे बिना में ज़िंदा हूँ, क्यूंकी हर साँस से पहले तेरी खुश्बु आती है…

किसी को चाहो तो इस अंदाज़ से चाहो, कि वो तुम्हे मिले या ना मिले,
मगर उसे जब भी प्यार मिले, तो तुम याद आओ…!!

 “आपकों प्‍यार करने से डर लगता है आपकों खोने से डर लगता है
कहीं आखों से गुम ना हो जाये याद अब रात में सोने से डर लगता है”

वो आपका पलके झुका के मुस्कुराना; वो आपका नजरें झुका के शर्मना;
वैसे आपको पता है या नहीं हमें पता नहीं; पर इस दिल को मिल गया है उसका नज़राना।

हिंदी दो प्यार करने वालों की शायरी

“बिन देखे तेरी तस्‍वीर बना सकते हैं बिन मिले तेरा हाल बना सकते है
हमारे प्‍यार में इतना दम है की तेरे आसूं अपनी ऑख से गिर सकते हैं ”

तुम्हारी ज़िद बेमानी है दिल ने हार कब मानी है
कर ही लेगा वश में तुम्हें आदत इसकी पुरानी है.

 क्यों किसी से इतना प्यार हो जाता है! एक पल का इंतज़ार भी दुश्वार हो जाता है!
लगने लगते है अपने भी पराये! और एक अजनबी पर ऐतबार हो जाता है!

“दीवाने है तेरे नाम के इस बात से इंकार नहीं कैसे कहे कि तुमसे प्‍यार नहीं
कुछ तो कसूर है आपकी आखों का हम अकेले तो गुनहगार नहीं ”