Dil-ki-tadap-shayari-hindi-tasveere

दिल की तड़प शायरी हिंदी तस्वीरें

दिल की तड़प शायरी हिंदी तस्वीरें Dil ki Tadap Shayari Hindi Tasveere 2022 In Hindi रहते हो मेरी साँसों में तुम, मेरी यादों में तुम और ख़्वाबों में तुम, जब भी उठाता हूँ कलम कुछ लिखने को, बनकर शायरी आ जाते हो अल्फाजों में तुम 

दिल की तड़प शायरी हिंदी तस्वीरें

Dil-ki-tadap-shayari-hindi-tasveere-1

इससे बेहतर नज़ारा नहीं देखा
चाँद के आगोश मे सितारा नहीं देखा
देखे तो बहुत चाहने वाले
जिसे सिर्फ चाँद चाहे वो सितारा नहीं देखा

 ख़ुदा से तुम्हारी खुशियाँ माँगता हूँ,
इबादत में तुम्हारी हँसी मांगता हूँ,
सोच रहा हूँ तुमसे मांगू तो क्या मांगू,
चलो तुमसे उम्रभर का प्यार मांगता हूँ

 जब तुम मुस्कुराते हो तो बिजली गिरा देते हो,
जब तुम बात करते हो तो दीवाना बना देते हो,
तुम्हारी याद नहीं कम किसी मयख़ाने से,
जब भी तुम्हे सोचता तो सब कुछ भुला देते हो।

 कीमत पानी की नहीं बल्कि प्यास की होती है,
मोहब्बत हर किसी से नहीं बल्कि एक ख़ास से होती है,
यूं तो लव बहुत लोग करते हैं इस दुनिया में,
लेकिन कीमत लव की नहीं विश्वास की होती है

 मानता हूँ कि बहुत ही बदनाम हूँ मैं,
कर देता हूँ ग़लती क्योंकि इंसान हूँ मैं,
मत लिया करो मेरी बातों को तुम अपने दिल पर,
तुम्हे पता तो है कि कितना नादान हूँ मैं

दिल की तड़प शायरी हिंदी तस्वीरें 2022

ना हंसने को ज़ी चाहता है,
ना रोने को ज़ी चाहता है,
क्या लिखुँ मैं तुम्हारी याद में ए सनम,
बस तुम्हारे पास आ जाने को ज़ी चाहता है

लाखों चेहरे हैं इस दुनिया में,
लेकिन हमें बस एक उनका ही चेहरा नज़र आता है,
और किसी को देखने की फुर्सत नहीं,
क्योंकि उनकी याद में ही ये वक़्त गुज़र जाता है

तुमसे इश्क़ है हमें इससे इंकार नहीं,
कौन कहता है कि हमें तुमसे प्यार नहीं,
करता हूँ मैं वादा तुम्हारा साथ देने का,
बस हमें अपनी साँसों पर एतबार नहीं।

 जीता हूँ बस तुम्हारा ही नाम लेकर,
जाने इसका क्या अन्जाम होगा,
मर गया कभी तो उठा कर देख लेना कफ़न मेरा,
इन होंठों पर बस तुम्हारा ही नाम होगा…

 दिल लेकर हमारा कभी तोड़ ना देना,
यूं तनहा कभी तुम हमें छोड़ ना देना,
बड़ी ही हसरतें लगा बैठा है ये दिल तुमसे,
अगर कभी आऊं मिलने तो हमसे मुँह मोड़ ना लेना।

Dil-ki-tadap-shayari-hindi-tasveere-2

 उनके इश्क़ की दस्तक़,
भी बड़ी अजीब थी,
ना उन्होंने अपना बनाया,
और ना ही किसी और का और का हमें होने दिया

रहते हो मेरी साँसों में तुम,
मेरी यादों में तुम और ख़्वाबों में तुम,
जब भी उठाता हूँ कलम कुछ लिखने को,
बनकर शायरी आ जाते हो अल्फाजों में तुम  

मेरे दिल की गहराइयों में,
जबसे तुमने रखे हैं कदम,
तुम्हारे नाम तब से लिख दी है,
हमने अपनी यह ज़िन्दगी सनम…

काश कि तुम चाँद और मैं तारा होता,
ऊँचे गगन में एक घर हमारा होता,
दुनिया देखती तुम्हे दूर से ही,
और तुम्हारे पास आने का हक़ सिर्फ हमारा होता…

नहीं बसा पाते किसी और की,
सूरत अब इन नज़रों में,
काश कि मैंने तुम्हें,
इतने ग़ौर से ना देखा होता कभी…

 हर सांस में मुझे,
बस ख़्याल तुम्हारा आता है,
जैसे ही हिलते हैं लब जरा से,
तो नाम तुम्हारा आता है …

Status Dil ki Tadap Shayari Hindi Tasveere 

मांगता हूँ रब्ब से,
बस यही एक दुआ,
जब तक तेरा साथ है,
तब तक साँसे चलती रही मेरी।

 मेरी हर सुबह तुम हो,
मेरी ज़िन्दगी तुम हो,
तुम्हे पा कर सब कुछ पा लिया मैंने,
क्योंकि मेरी हर ख़ुशी तुम हो

 आज बरसात में तुम्हारे संग नहाना है,
ख़्वाब ये मेरा बरसों पुराना है,
जो छुए बरसात की बूंदे तुम्हारे लबों को,
छीनकर उन्हें तुमसे अपने लबों पर सजाना है

कभी उदास हो अगर तो तुम्हे अपनी हँसी दे देंगे,
ग़म हो कभी तुम्हे तो अपनी हर ख़ुशी दे देंगे,
ख़ुदा तुम्हे दे बेहद लम्बी उम्र,
एक पल भी अगर कम पड़े तो तुम्हे हम अपनी ज़िन्दगी दे देंगे

Dil-ki-tadap-shayari-hindi-tasveere-3

 तुम मुझे चाहो या ना चाहो,
इसमें मेरा कोई ज़ोर नहीं,
मेरा दिल तो क्या मेरी रूह भी,
बस तुम्हारे लिए ही तड़पते हैं

 तुम्हारे लव का स्वाद,
कुछ कुछ हवा जैसा है,
कम्बख्त केवल महसूस होता है,
कि हमें छू कर गुज़रा है।

 तुम नहीं जानते कि तुम कितने प्यारे हो,
तुम जान थे हमारी और जान से प्यारे हो,
चाहे कितनी भी दूरियां हो हमारे दरमियाँ,
तुम कल भी हमारे थे और आज भी हमारे हो

 उन्हें गुरूर है अपने आप पर,
इतना तो उनका हक़ बनता है,
जिन्हे हम चाहते हैं,
वो कोई आम इंसान हो ही नहीं सकते

तुम्हारे इश्क़ की गुज़ारिश थी,
इसलिए अपने हाथ फैला लिए,
वर्ना मैंने तो कभी अपनी ज़िन्दगी की,
दुआ भी नहीं मांगी थी कभी

जो कभी ना पा सके,
अब तक अपनी ज़िन्दगी गुजार कर,
वो सब कुछ मिल गया हमें,
बस एक तुम्हें पा कर

 तुम्हारी सांसों के साथ,
चलती है हमारी हर एक धड़कन,
और तुम पूछते हो,
कि हमने तुम्हे याद किया या नहीं

 ज़िन्दगी में तुम्हारा साथ ही बहुत है,
हाथों में हमारे तुम्हारा हाथ ही बहुत है,
चाहे कितने भी अड़चने हो मोहब्बत में अपनी,
तुम्हारे इश्क़ का बस एहसास ही बहुत है

क्यों करते हो तुम,
मुझसे इतनी ख़ामोश मोहब्बत,
और लोग कहते हैं,
मुझ ग़रीब का कोई भी नहीं  

एक दिन उन्होंने हमसे,
क़यामत क्या है पूछ लिया,
हमने घबराकर उनसे,
तुम्हारा रूठ जाना कह दिया

 चाय के प्याले से निकलते धुएं में,
हमें आपकी मुस्कान नज़र आती है,
ऐसा खो जाते हैं हम आपकी यादों में,
कि अक्सर हमारी चाय ठंडी हो जाती है

 हमारी निग़ाहों में झाँकने से पहले,
जरा इतना समझ लीजिये सनम,
अगर जो पलके झुका ली हमने,
तो क़यामत हो जाएगी,
और अगर नज़रें मिला ली हमने,
तो मोहब्बत हो जाएगी

 तन्हाइयों में बुना करता हूँ,
तुम्हारे प्यार का मैं ताना-बाना,
एक सुकूं सा दे देता है,
तुम्हारा इस सुनसान दिल में आना-जाना।।

 कोशिश तो करता हूँ,
कि वक़्त से समझौता कर लूँ,
लेकिन इस पागल दिल में,
बसी चाहत मानती ही नहीं ।।