dard-bhari-shayari-ki-diary

Best दर्द भरी शायरी की डायरी Dard Bhari Shayari Ki Dairy 2022

Best Dard Bhari दर्द भरी शायरी की डायरी Dard Bhari Shayari Ki Dairy 2022 तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई; आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई; मोहब्बत करके क्या पाया मैंने; वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई!  दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है; सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है; उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता; उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है!

दर्द भरी शायरी की डायरी ! Dard Bhari Shayari Ki Dairy

dard-bhari-shayari-ki-diary-1

सब्र का बाँध टूटेगा तो फ़ना कर के रख दूंगा दुश्मन से जरा कह दो अभी गरजा नही हूँ मैं.

चलो अब जाने भी दो….क्या करोगे दास्तां सुनकर ख़ामोशी तुम समझोगे नही….और बयां हमसे होगा नही !!

क्यों इतना गमो से वास्ता रखने लगा हू खुद से ही क्यों जुदा होने लगा हुँ। उस अनजान कि खातिर जान पहचान वालो से रकीबो सा रिश्ता रखने लगा हुँ। इतना जिद्दी तो वो खुदा भी नहीं जिसने बनाया है उसे क्यों उसके लिए खुदा से रूठ रहा हुँ। बहुत दूर है वो समझता है दिल मेरा

एक दिन जब हुआ प्यार का अहसास उन्हें; वो सारा दिन आकर हमारे पास रोते रहे; और हम भी इतने खुद गर्ज़ निकले यारों कि; आँखे बंद कर के कफ़न में सोते रहे।

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है! कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है! पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है

माचिस की ज़रूरत यहाँ नहीं पड़ती… यहाँ आदमी आदमी से जलता है…!!

बेशक Ishq‬ बड़ी कुत्ती-कमीनी चीज हे पर
सही इंसान से हो जाय तो जिंदगी संवर जाती हे ।।

एक सच्चा मित्र वो है जो उस वक़्त आपके साथ खड़ा है जब उसे कहीं और होना चाहिए था.

ऐसा लगता है कुछ होने जा रहा है कोई मीठे सपनों में खोने जा रहा है धीमी कर दे तेरी रौशनी ऐ चाँद मेरा कोई अपना सोने जा रहा है . Good Night

डरते तो हम किसी के बाप से भी नही बस Respect नाम की चीज बीच मे आ जाती हे..

मैं जैसा हूँ वैसा रहने दो
गर बिगड़ गया तो संभाला न जाऊं गा . !!!

भीङ में खङा होना मकसद नहीं हैं मेरा बलकि भीङ जिसके लिए खडी है वो बनना है मुझे ॥।

भगवान वह नहीं है जो मन की मनोकामनाओं को पूरा करता है
बल्कि भगवान वह है जो मन से मनोकामनाओं का नाश करता है ।

खामोश थे हम तो मगरूर समझ लिया; चुप हैं हम तो मजबूर समझ लिया; यही आप की खुशनसीबी है कि हम इतने क़रीब हैं; फिर भी आप ने दूर समझ लिया!

तक़दीर के आईने में मेरी तस्वीर खो गई; आज हमेशा के लिए मेरी रूह सो गई; मोहब्बत करके क्या पाया मैंने; वो कल मेरी थी आज किसी और की हो गई!

तुमको आता है प्यार पर गुस्सा मुझे तो गुस्से पर प्यार आया है .

वह पिता बुद्धिमान है जो अपने बच्चे को जानता है . शादी के बाद दूसरे की बीवी ज्यादा खूबसूरत लगती है.

बहुत अजीब हैं ये बंदिशें मोहब्बत की; कोई किसी को टूट कर चाहता है; और कोई किसी को चाह कर टूट जाता है।

मुझे आदत नहीं यूँ हर किसी पे मर मिटने की…! पर तुझे देख कर दिल ने सोचने तक की मोहलत ना दी ।।

जिंदगी चाहे एक दिन की हो या चाहे चार दिन की।
उसे ऐसे जियो जैसे की जिंदगी तुम्हें नहीं मिली
जिंदगी को तुम मिले हो।

तुझे तो हमारी मोहब्बत ने मशहूर कर दिया बेवफ़ा …. वरना तू सुर्खियों में रहे तेरी इतनी औकात नहीं!!!

New दर्द भरी शायरी की डायरी

dard-bhari-shayari-ki-dairy-2

जो आपसे प्यार करता है वो आपको अपनी आँखों से नहीं बल्कि दिल से देखता है।

पगली तेरे सिवा में चॉकलेट तक किसी को ना दू दिल तो बहोत दूर की बात है..

ना होना बेमुरव्वत ना दिखाना बेरुखी बस सादगी से कहना के ‘बोझ बन गये हो तुम’.

ज़माने तेरे सामने मेरी कोई हस्ती नहीं लेकिन कोई खरीद ले इतनी भी ये सस्ती नहीं!!!

ना दिल से होता है ना दिमाग से होता है; ये प्यार तो इत्तेफ़ाक़ से होता है; पर प्यार करके प्यार ही मिले; ये इत्तेफ़ाक़ भी किसी-किसी के साथ होता है।

बन्दा खुद की नज़र में सही होना चाहिए… दुनिया तो भगवान से भी दुखी है !

उलझी शाम को पाने की ज़िद न करो; जो ना हो अपना उसे अपनाने की ज़िद न करो; इस समंदर में तूफ़ान बहुत आते है; इसके साहिल पर घर बनाने की ज़िद न करो।

तेरी आँखों में हमे जाने क्या नज़र आया! तेरी यादों का दिल पर सरुर है छाया! अब हमने चाँद को देखना छोड़ दिया! और तेरी तस्वीर को दिल में छुपा लिया!

ये इश्क़ नहीं आसाँ बस इतना समझ लीजे .
इक आग का दरिया है और डूब के जाना है . !!!

अगर तुम न होते तो ग़ज़ल कौन कहता! तुम्हारे चहरे को कमल कौन कहता! यह तो करिश्मा है मोहब्बत का! वरना पत्थर को ताज महल कौन कहता!

न जाने कैसे आग लग गई बहते हुये पानी में..हमने तो बस कुछ ख़त बहाये थे “उसके नाम के“…

सालो साल बातचीत से उतना सुकून नही मिलता जितना एक बार महबूब के गले लग कर मिलता है….!!

आप जैसे लोग कुछ ख़ास लगते हैं; दिल में हर वक़्त एक आस रखते हैं; ना जाने कब हो जाये मुलाकात आपसे; इसलिए हम एक ‘डिस्प्रिन’ हमेशा अपने साथ रखते हैं!

शौक से बदल जाओ तुम मगर ये ज़हन मैं रखना की…… हम जो बदल गये तो तुम करवटें बदलते रह जाओगे.!

एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये..पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही।

कभी किसी से प्यार मत करना! हो जाये तो इंकार मत करना! चल सको तो चलना उस राह पर! वरना किसी की ज़िन्दगी ख़राब मत करना!

ज़िंदा हो तो ज़िंदा नजर आना जरुरी है
सहूलियत पाने के लिए पगलाना जरुरी है .
शांति से जब ना बने कोई बात .
तो आंधी तूफ़ान मचाना जरुरी है . !!!

एक पिता अपने बच्चों के लिए जो सबसे ज़रूरी चीज कर सकता है वो है उनकी माँ से प्रेम !!!

गैर जो ले बोसा तुम्हारा तो तुम्हे बुरा नहीं लगता हमसे गले मिलने में भी तुम्हे तकलीफ होती है दिल के पन्नों पर तेरे नाम लिखे थे मैंने जबसे की है तूने बेवफाई तबसे मेरी तहरीर रोती है.

मजा इसमें कुछ की दुश्मन को भी ख़बर दे कर मारो.. अगर बेहुनर है तो उसको हुनर दे कर मारो..

सिकंदर तो हम अपनी मर्जी से है पर हम दुनिया नहीं दिल जितने आये हे..

दर्द भरी शायरी की डायरी 2022

dard-bhari-shayari-ki-dairy-3

मरते तो सभी हैं लेकिन महत्वपूर्ण यह हैं कि आपने अपनी जिंदगी किस प्रकार गुजारी हैं|

आप को भूल जाऊं यह नामुमकिन सी बात है; आप को न हो यकीन यह और बात है; जब तक रहेगी साँस तब तक आप रहोगे याद; टूट जाये यह साँस तो यह और बात है।

भूल गए या भुलाना चाहते हो; दूर कर दिया या करना चाहते हो; अजमा लिया या अजमाना चाहते हो; मेसेज कर रहे हो या अभी और पैसे बचाना चाहते हो?

मेरे मिज़ाज को समझने के लिए बस इतना ही काफी है मैं उसका हरगिज़ नहीं होता….. जो हर एक का हो जाये।

औपचारिक शिक्षा आपके जीवन यापन के लिए काफी है लेकिन आत्म शिक्षा आपको भाग्यवान बनाती है !

वैधानिक चेतावनीः शराब पीने से आपको यह भ्रम हो सकता है कि आपकी पूर्व गर्लफ्रैंड आपके फोन का बेसब्री से इंतेजार कर रही है।

बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे; शमशान में पिया करूंगा; जब खुदा मांगेगा हिसाब; तो पैग बना कर दिया करूंगा।

आपको ज़ीद हे अगर हमे भूलने की तो हमे भी ज़ीद हे आपको अपनी याद दिलाने की !!

कभी कभी किसी का ध्यान आकर्षित करने का सबसे बेहतर तरीका उस व्यक्ति पर ध्यान ना देना ही होता है !

वो जिनके घर मेहमानों का आना-जाना होता है; उनको घर का हर कमरा हर रोज़ सजाना होता है; जिस देहरी की क़िस्मत में स्वागत या वंदनवार न हों; उस चौखट के भीतर केवल इक तहख़ाना होता है।

हम पर दुःख का पर्वत टूटा तब हमेंने दो-चार कहे .
उन पर फिर क्या गुजरी होगी जिसने शेर हजार कहे . !!!

दो दिलों की धड़कनों में एक साज़ होता है; सबको अपनी-अपनी मोहब्बत पर नाज़ होता है; उसमें से हर एक बेवफा नहीं होता; उसकी बेवफ़ाई के पीछे भी कोई राज होता है!

एक पिता हमेशा अपनी बेटी को एक छोटी औरत बना रहा होता है . और जब वो औरत बन जाती है तो वापस उसे पहले जैसा बना देता है !!