bhagwan-se-prathna-shayari

भगवान से प्रार्थना शायरी Status Quotes Messages

भगवान से प्रार्थना शायरी Status Quotes Messages संत की तपस्या भंग हो तो वो राजा होजाता है पर जब भी राजा की तपस्या भंग हो , पुनः लोटता नरक , अपने ही कर्म से …

भगवान से प्रार्थना शायरी

bhagwan-se-prathna-shayari-2

पत्ता भी हिलता है तो , उसी के हुकम से …

अधिकार है हमारा , खुद ही के कर्म से , …

मिलता है फल तेरे ही कर्म की नियत से …

आदमी जीता अपने – २ विकारों से…

घटनाएं घटती है , हुकमें मंजूरे खुदा से …

चाँद – तारे भी तू ही उगा रहा है …

रोशन है ये जहां हमारा ,..

होता सब कुछ तेरे ही रहमों कर्म से …

है सत्तापति एक ही , जो पूरा ब्रह्माण्ड चलारहा है …

सिर्फ तेरा ही घर नहीं ,

वो तो जीव – जंतु सभी को चला रहा है …

देता है वो जिसे भी सत्ता , …

मिलती सत्ता उसे उसी के हुकम से …

रखना याद इतना , है ये सत्ता उसी की ,

तू भी जीता है उसी के रजा से…

दुरूपयोग होता जब भी सत्ता का , …

गिरता फिर वापस तू उसी के हुकम से…

संत की तपस्या भंग हो तो वो राजा होजाता है

पर जब भी राजा की तपस्या भंग हो ,

पुनः लोटता नरक , अपने ही कर्म से …

पत्ता भी हिलता है तो , उसी के हुकम से …

अधिकार है हमारा , खुद ही के कर्म से ,…

मिलता है फल तेरे ही कर्म की नियत से …