apne-chahne-walo-ke-liye-shayari

Best अपने चाहने वालों के लिए शायरी 2022 Status Quotes

Best अपने चाहने वालों के लिए शायरी 2022 Status Quotes इश्क है वही जो हो एक तरफा; इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है; है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ; जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है। चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा।

अपने चाहने वालों के लिए शायरी

apne-chahne-walo-ke-liye-shayari-1

 बेताब तमन्नाओ की कसक रहने दो!
मंजिल को पाने की कसक रहने दो!
आप चाहे रहो नज़रों से दूर!
पर मेरी आँखों में अपनी एक झलक रहने दो!

 वो वक़्त वो लम्हे कुछ अजीब होंगे!
दुनिया में हम खुश नसीब होंगे!
दूर से जब इतना याद करते है आपको!
क्या होगा जब आप हमारे करीब होंगे?

 कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है!
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है!
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है!
दिल न चाह कर भी, खामोश रह जाता है!
कोई सब कुछ कहकर, प्यार जताता है!
कोई कुछ न कहकर भी, सब बोल जाता है!

मुहब्बत का इम्तिहान आसान नहीं!
प्यार सिर्फ पाने का नाम नहीं!
मुद्दतें बीत जाती हैं किसी के इंतज़ार में!
ये सिर्फ पल-दो-पल का काम नहीं!

 प्यार कमजोर दिल से किया नहीं जा सकता!
ज़हर दुश्मन से लिया नहीं जा सकता!
दिल में बसी है उल्फत जिस प्यार की!
उस के बिना जिया नहीं जा सकता!

कभी किसी से प्यार मत करना!
हो जाये तो इंकार मत करना!
चल सको तो चलना उस राह पर!
वरना किसी की ज़िन्दगी ख़राब मत करना!

वफ़ा का लाज हम वफा से निभायेगें;
चाहत के दीप हम आँखों से जलाएंगे;
कभी जो गुजरना हो तुम्हें दूसरे रास्तों से;
हम फूल बनकर तेरी राहों में बिखर जायेंगे!

Best अपने चाहने वालों के लिए शायरी

apne-chahne-walo-ke-liye-shayari-2

आँखों में आंसुओं की लकीर बन गई;
जैसी चाहिए थी वैसी तकदीर बन गई;
हमने तो सिर्फ रेत में उंगलियाँ घुमाई थी;
गौर से देखा तो आपकी तस्वीर बन गई!

इश्क है वही जो हो एक तरफा;
इजहार है इश्क तो ख्वाईश बन जाती है;
है अगर इश्क तो आँखों में दिखाओ;
जुबां खोलने से ये नुमाइश बन जाती है।

 चुपके से आकर इस दिल में उतर जाते हो;
सांसों में मेरी खुशबु बन के बिखर जाते हो;
कुछ यूँ चला है तेरे ‘इश्क’ का जादू;
सोते-जागते तुम ही तुम नज़र आते हो।

कोई चाँद से मोहब्बत करता है;
कोई सूरज से मोहब्बत करता है;
हम उनसे मोहब्बत करते हैं;
जो हमसे मोहब्बत करते हैं।

बहते अश्कों की ज़ुबान नहीं होती;
लफ़्ज़ों में मोहब्बत बयां नही होती;
मिले जो प्यार तो कदर करना;
किस्मत हर कीसी पर मेहरबां नहीं होती।

 दिल में प्यार का आगाज हुआ करता है;
बातें करने का अंदाज हुआ करता है;
जब तक दिल को ठोकर नहीं लगती;
सबको अपने प्यार पर नाज हुआ करता है!

 दिल की किताब में गुलाब उनका था;
रात की नींदों में ख्वाब उनका था;
कितना प्यार करते हो जब हमने पूछा;
मर जायेंगे तुम्हारे बिना यह जवाब उनका था।

 कुछ चेहरे भुलाए नहीं जाते;
कुछ नाम दिल से मिटाए नहीं जाते;
मुलाक़ात हो न हो, अय मेरे यार;
प्यार के चिराग कभी बुझाए नहीं जाते।

कुछ सोचूं तो तेरा ख्याल आ जाता है;
कुछ बोलूं तो तेरा नाम आ जाता है;
कब तलक बयाँ करूँ दिल की बात;
हर सांस में अब तेरा एहसास आ जाता है।

 हर बार दिल से ये पैगाम आए;
ज़ुबाँ खोलूं तो तेरा ही नाम आए;
तुम ही क्यूँ भाए दिल को क्या मालूम;
जब नज़रों के सामने हसीन तमाम आए

 ना चाहो किसी को ऐसे कि;
चाहत आपकी मज़बूरी बन जाए;
पर चाहो किसी को इतना कि;
आपका प्यार उसके लिए जरुरी बन जाए

 जिस दिल में बसा था प्यार तेरा;
वो दिल तो कभी का तोड़ दिया;
बदनाम ना होने देंगे तुझे इसलिए;
तेरा नाम भी लेना छोड़ा दिया।

 अपने चाहने वालों के लिए शायरी 2022

apne-chahne-walo-ke-liye-shayari-3

 किसी की क्या मजाल थी;
जो हमें खरीद सकता;
हम तो खुद ही बिक गये;
खरीददार देख के।

न​ज़​रे​ मिले तो प्यार हो जाता है;
पलके उठे तो इज़हार हो जाता हैं;
ना जाने क्या कशिश हैं चाहत में;
कि कोई अनजान भी हमारी;
जिंदगी का हक़दार हो जाता है।

 मैं अल्फाज़ हूँ तेरी हर बात समझता हूँ​;​
मैं एहसास हूँ तेरे जज़्बात समझता हूँ​;​
कब पूछा मैंने ​कि ​क्यूँ दूर हो मुझसे​;​
मैं दिल रखता हूँ तेरे हालात समझता हूँ​।

 तेरे हुश्न पे कुर्बान हो जाऊ
तेरी बाहों में बेजान हो जाऊ
ऐसी नज़ाक़त है तेरी सूरत की
की मै तेरा गुलाम हो जाऊ

 तू चाँद और मैं सितारा होता
आसमान में एक आशियाना हमारा होता
लोग तुम्हे दूर से देखते
नज़दीक़ से देखने का हक़ बस हमारा होता.

 सपनों की दुनिया में हम खोते चले गए
मदहोश न थे पर मदहोश होते चले गए
ना जाने क्या बात थी उस चेहरे में
ना चाहते हुए भी उसके होते चले गए।

 एक आरज़ू सी दिल मैं अक्सर छुपाये फिरता हूँ
प्यार करता हूँ तुझ से, पर कहने से डरता हूँ
नाराज़ ना हो जाओ कहीं मेरी गुस्ताखी से तुम
इसलिए ख़ामोशी से, तेरी धड़कन सुना करता हूँ

चाहा है तुम्हें अपने अरमान से भी ज्यादा
लगती हो हसीन तुम मुस्कान से भी ज्यादा
मेरी हर धड़कन हर साँस है तुम्हारे लिए
क्या माँगोगे जान मेरी जान से भी ज्यादा।

 दीवाने है तेरे नाम के इस बात से इंकार नहीं
कैसे कहे कि तुमसे प्‍यार नहीं
कुछ तो कसूर है आपकी आखों का
हम अकेले तो गुनहगार नहीं

 बहुत खूबसूरत है आखै तुम्हारी
इन्हें बना दो किस्मत हमारी
हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ
अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी

 तुम आये तो लगा हर खुशी आ गई
यू लगा जैसे ज़िन्दगी आ गई…
था जिस घड़ी का मुझे कब से इंतज़ार
अचानक वो मेरे करीब आ गई

वो जान लेती तो क्या बात होती
हमने माँगा था उन्हें खुदा से
वो भी माँग लेती तो क्या बात होती.

उनकी चाहत पे हक था उनका
उन्होंने किसी और को दी
हमारी चाहत पे हक था हमारा
हमने सिर्फ़ उनको दी.

 उन्हें शक है कि हम उनपे मरते है
हमें शक है कि वो हमपे मरते है
जिन्दगी के दौर यूँ ही गुजर जाते है
ना वो कुछ पूछते है ना हम कुछ कहते हैं.

आज दिल कर रहा था
बच्चों की तरह रूठ ही जाऊँ
पर फिर सोचा
उम्र का तकाज़ा है मनायेगा कौन

 तुम कभी गलतफहमी में रहते हो
कभी उलझन में रहते हो
इतनी जगह दी है तुमको दिल में
तुम वहाँ क्यों नहीं रहते हो

 अपने चाहने वालों के लिए शायरी Status

apne-chahne-walo-ke-liye-shayari-4

छुप कर रहना है जो सब से
तो ये मुश्किल क्या है
तुम मेरे दिल में रहो सनम
दिल की तमन्ना हो कर

 बड़ी आसानी से दिल लगाए जाते हैं
पर बड़ी मुश्किल से वादे निभाए जाते हैं
लेकर जाती है मोहब्बत उन राहों पर
जहां पर दिये नहीं दिल जलाए जाते हैं

दिल-ए-नादान तुझे हुआ क्या है
आखिर इस दर्द की दवा क्या है,
हमको उनसे है उम्मीद वफ़ा की
जो जानते ही नहीं वफ़ा क्या है

आपसे रोज़ मिलने को दिल चाहता है
​कुछ सुनने सुनाने को दिल चाहता है​​
​था आपके मनाने का अंदाज़ ऐसा​​
​कि फिर रूठ जाने को दिल चाहता है​

 तू ही बता दिल कि तुझे समझाऊं कैसे
जिसे चाहता है तू उसे नज़दीक लाऊँ कैसे
यूँ तो हर तमन्ना हर एहसास है वो मेरा
मगर उसको ये एहसास दिलाऊं कैसे

 एक अजीब सा मंजर नजर आता है
हर एक आँसू समंदर नजर आता है
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना
हर एक हाथ में पत्थर नजर आता है

 किसी के दिल में क्या छुपा है
ये बस खुदा ही जानता है
दिल अगर बे-नकाब होता
तो सोचो कितना फसाद होता

 उदास हूँ पर तुझसे नाराज़ नहीं
तेरे दिल में हूँ पर तेरे पास नहीं
झूठ कहूँ तो सब कुछ है मेरे पास
और सच कहूँ तो तेरे सिवा कुछ नहीं