akelapan-shayari

अकेलापन शायरी » Akelapan shayari Status

अकेलापन शायरी » Akelapan shayari Status Quotes Hindi 2021 New Latest Best Collection Boy & Girl Shayari Firends Share Whatsapp Facebook Instagram अकेलापन More Read 

अकेलापन शायरी Akelapan shayari 2021

akelapan-shayari-hindi

1.मेरे ख्यालो में सिर्फ तुम हो तुम्हे कैसे भुला दूँ,
इस दिल की धड़कन हो सिर्फ तुम, तुम्हे कैसे निकाल दूँ।

2.सच कहो तो उन्हें ख्वाब लगता है,
और शिकवा करो तो उन्हें मज़ाक लगता है,
हम कितनी शिद्दत से उन्हें याद करते है,
और एक वो हैं जिन्हें ये सब इत्तेफाक लगता है।

3.ख्वाइशें तमाम पिघलने लगी है,
फिर से एक और शाम ढलने लगी है,
उनसे मुलाकात के इंतज़ार में बैठे है,
अब ये जिद भी तो हद से गुजर ने लगी है।

4.कितनी दूर निकल आये हम इश्क निभाते निभाते,
खुद को खो दिया हमने उनको पाते पाते,
लोग कहते है दर्द बहुत है तेरी आँखों में,
और हम दर्द छुपाते रहे मुस्कुराते मुस्कुराते।

5.तुझे मोहब्बत करना नही आता,
और मुझे मोहब्बत के सिवा कुछ नही आता,
जिंदगी जीने के दो ही तरीकें है,
एक तुझे नही आता, और दूसरा मुझे नही आता।

6.यादो में किसी का दीदार नही होता है,
सिर्फ याद करना ही प्यार नही होता है,
यादों में किसी की हम भी तड़पतें हैं,
बस हमसे दर्द का इज़हार नही होता है।

7.बहुत से रिश्ते खत्म होने की ये भी वजह होती है,
एक सही से बोल नही पाता है और एक सही से समझ नही पाता है।

8.जिनके पास जिंदगी में देने के लिये मोहब्बत के सिवा कुछ नही होता है,
उन्हें जिंदगी में दर्द के सिवा कुछ नही मिलता है।

9.उम्मीद जिनसे थी वही तनहा कर गए,
आज के बाद किसी से नही कहेंगे की तू मेरा है।

10.आँखे हँसती हैं, मग़र दिल ये रोता है,
जिसे हम अपनी मंजिल समझे हैं,
उसका हमसफ़र कोई और ही होता है।

11.अगर तुम्हारे साथ कोई रिश्ता नही रखना चाहता,
तो उससे दूर हो जाओ, क्योंकि वक्त खुद सिखा देगा उसे कदर करना,
और तुम्हे सब्र करना।

12.जी भर के रोते है तो करार मिलता है,
इस जहा मे कहा सबको प्यार मिलता है,
ज़िंदगी गुज़र रही है इंतेहानो के दौर से,
एक ज़ख़्म भरता नही दूसरा तैयार मिलता है

13.इन आँखों में सूरत तेरी सुहानी है,
मोम की तरह से पिघल रही मेरी जबानी है,
जिस तरह से सितम हुए थे हम पर,
मर जाना चाहिये था, पर जिन्दा है, ये बड़ी हैरानी है।

14.बिन मांगे ही मिल जाती है मोहब्बत किसी को,
और कोई हजारो दुआओं के बाद भी खाली हाथ ही रह जाता है।

15.दिमाग पर जोर लगा कर गिनते हो गलतियां मेरी,
कभी दिल पर हाथ लगा कर पूछना की कसूर किसका था।

16.तेरी यादों को पसन्द आ गई मेरे आँखों की नमी,
अब हँसता हूँ तो रुला देती है तेरी कमी।

17.यूँ तो पहले सदमो में भी हँस लेता था मैं,
पर आज क्यों बेवजह रोने लगा हूँ मैं,
वैसे तो हमेशा से हाथ खाली ही था मेरा,
फिर आज क्यों लगा सब कुछ खोने लगा हूँ मैं।

18.दुनिया है पत्थर की जज़्बात नही समझती,
दिल में छुपी है जो बात नही समझती,
चाँद तन्हा है तारो की बारात में भी,
दर्द ये चाँद का ज़ालिम रात नही समझती।

19.मर कर तमन्ना जीने के किसे नही होती,
रो कर खुश होने की तमन्ना किसे नही होती,
कह तो देते हैं जी लेंगे अपनों के बिना,
लेकिन अपनों की तमन्ना किसे नही होती।

20.हमने उनसे प्यार किया,
ये मेरे प्यार की हद थी,
हमने उन पर एतवार किया,
ये मेरे एतवार की हद थी,
मर कर भी खुली रही मेरी आँखे,
ये मेरे इंतज़ार की हद थी।

21.अपना गम हर किसी से बहुत सोच समझ क्र बाटना चाहिये,
क्योंकि आज कल लोग हम दर्द कम सिरदर्द ज्यादा होते हैं।

22.अगर दर्द की जुबान होती तो वो खुद बता देता,
अब भला मैं वो ज़ख्म कैसे दिखाऊं जो दिखते ही नही।

23.रोज़ आता है मेरे
दिल को तस्सली देने
ख़याल ऐ यार को
मेरा खयाल कितना है

24.वफ़ा पर हमने घर लुटाना था लेकिन,
वफ़ा लौट गयी लुटाने से पहले,
चिराग तमन्ना का जला तो दिया था,
मगर बुझ गया जगमगाने से पहले।

25.हर सितम सह कर कितने ग़म छिपाये हमने,
तेरी खातिर हर दिन आँसू बहाये हमने,
तू छोड़ गया जहाँ हमें राहों में अकेला,
बस तेरे दिए ज़ख्म हर एक से छिपाए हमने|

26.तू तो हँस हँसकर जी रही है,
जुदा होकर भी..
कैसे जी पाया होगा वो,
जिसने तेरे सिवा जिन्दगी कभी सोची ही नहीं..

27.जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते,
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।

28.उल्फत का यह दस्तूर होता है,
जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है,
दिल टूट कर बिखरता है इस क़द्र जैसे,
कांच का खिलौना गिरके चूर-चूर होता है |

29.मैं अपने सारे एहसास, समेट ले जाऊँगा ,
हौसला रख मैं बहुत दूर चला जाऊँगा।

30.कहीं किसी रोज़ यूँ भी होता,
हमारी हालत तुम्हारी होती,
जो रात हमने गुज़ारी तड़प कर,
वो रात तुमने गुज़ारी होती।

31.कोई अच्छी सी सज़ा दो मुझको,
चलो ऐसा करो भूला दो मुझको,
तुमसे बिछडु तो मौत आ जाये,
दिल की गहराई से ऐसी दुआ दो मुझको।

32.गुजारिश हमारी वह मान न सके,
मज़बूरी हमारी वह जान न सके,
कहते हैं मरने के बाद भी याद रखेंगे,
जीते जी जो हमें पहचान न सके।

33.रात की गहराई आँखों में उतर आई,
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई,
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के,
कुछ तो मजबूरी थी कुछ तेरी बेवफाई।

34.जो जले थे हमारे लिऐ,
बुझ रहे है वो सारे दिये,
कुछ अंधेरों की थी साजिशें,
कुछ उजालों ने धोखे दिये।

35.दुनिया बहुत मतलबी है,
साथ कोई क्यों देगा,
मुफ्त का यहाँ कफ़न नहीं मिलता,
तो बिना गम के प्यार कौन देगा।

36.ज़िस्म से मेरे तड़पता दिल कोई तो खींच लो​,
मैं बगैर इसके भी जी लूँगा मुझे अब ​ये यकीन ​है।

37.आप से दूर हो कर हम जायेंगे कहा,
आप जैसा दोस्त हम पाएंगे कहा,
दिल को कैसे भी संभाल लेंगे,
पर आँखों के आंसू हम छुपायेंगे कहा।

38.चाहत वो नहीं जो जान देती है,
चाहत वो नहीं जो मुस्कान देती है,
ऐ दोस्त चाहत तो वो है,
जो पानी में गिरा आंसू पहचान लेती हैं।

39.भुला कर हमें क्या वो खुश रह पाएंगे,
साथ में नही तो मेरे जाने के बाद मुस्कुरायेंगे,
दुआ है खुदा से की उन्हें कभी दर्द न देना,
हम तो सह गए पर वो टूट जायेंगे।

40.दर्द को छुपाए बैठा रहा,
आंखों की नमी को छुपाए बैठा रहा,
उम्मीद टूटी नहीं है अभी भी,
तेरे लौट आने की खुशी में बैठा रहा।

41.इश्क़ सभी को जीना सिखा देता है,
वफ़ा के नाम पर मरना सीखा देता है,
इश्क़ नहीं किया तो करके देखो,
ज़ालिम हर दर्द सहना सीखा देता है।

42.परछाई आपकी हमारे दिल में है,
यादे आपकी हमारी आँखों में है,
कैसे भुलाये हम आपको,
प्यार आपका हमारी साँसों में है।

43.दर्द से दोस्ती हो गई यारों,
जिंदगी बे दर्द हो गई यारों,
क्या हुआ जो जल गया आशियाना हमारा,
दूर तक रोशनी तो हो गई यारो।

44.न सीरत नज़र आती है, न सूरत नज़र आती है,
यहाँ हर इंसान को बस अपनी ज़रूरत नज़र आती है।