बीते_हुए_पल_शायरी

बीते हुए पल शायरी | Beete Hue Pal

0

बीते हुए पल शायरी जलवे तो बेपनाह थे इस कायनात में,ये बात और है कि नजर तुम पर ही ठहर गई…”मुद्तों के बाद उसको किसी के साथ खुश देखा तो एहसास हुआ …. Beete Hue Pal Shayari

बीते हुए पल शायरी

Beete-Hue-Pal-shayari

Free Download

1.ये मंसबो का इलाक़ा है इसलिए शायद
किसी के नाम से घर का पता नहीं चलता

2.दामन को आँसुओं से शराबोर कर दिया
उसने मेरे इरादे को कमज़ोर कर दिया

3.बारिश हुए तो झूम के स नाचने लगे
मौसम ने पेड़-पौधों को भी मोर कर दिया

4.मैं वो दिया हूँ जिससे लरज़ती है अब हवा
आँधी ने छेड़-छेड़ के मुँहज़ोर कर दिया

5.इज़हार-ए-इश्क़ ग़ैर-ज़रूरी था , आपने
तशरीह कर के शेर को कमज़ोर कर दिया

6.उसके हसब-नसब पे कोई शक़ नहीं मगर
उसको मुशायरों ने ग़ज़ल-चोर कर दिया

7.उसने भी मुझको क़िस्से की सूरत भुला दिया
मैंने भी आरज़ूओं को दरगोर कर दिया..

8.मुहाजिर हैं मगर हम एक दुनिया छोड़ आए हैं,
तुम्हारे पास जितना है हम उतना छोड़ आए हैं ।

9.प्यार में यू लफ्जों का इस्तेमाल न कर…
मैं आंखों से भी सुन लूंगा , तू नजरों से बयान तो कर.

10.वक्त की एक आदत बहुत
अच्छी है,
जैसा भी हो,
गुजर जाता है!
“कामयाब इंसान खुश
रहे ना रहे…….
खुश रहने वाला इंसान .
कामयाब जरूर हो जाता है ||

11.मधुशाला के रिन्दों
कभी पूछ लिया करो
आते-जाते बेमक़सद ही
ख़ैरियत मेरी…

12.मैं तो ख़ैर ज़िंदा हूँ ही
क्यूँकि साक़ी रखती है
पैमाना मेरे लिए…

13.कहानी का ये हिस्सा आज तक सब से छुपाया है,
कि हम मिट्टी की ख़ातिर अपना सोना छोड़ आए हैं ।
नई दुनिया बसा लेने की इक कमज़ोर चाहत में,
पुराने घर की दहलीज़ों को सूना छोड़ आए हैं ।

14.जहां हो, जैस हो, वैसे ही रहनातुम..!!
तुम्हें पाना जरुरी नहीं तुम्हारा होना ही काफी है..!!

15.काश की उसको बहुत पहले ही छोड़ दिया होता …
ना जाने कितने रिश्ते ख़त्म कर दिये इस भ्रम न ….
कि मैं ही सही हूँ और सिर्फ़ मैं ही सही हूँ….

16.निकाल दिया उसने हमें,
अपनी ज़िन्दगी से भीगे कागज़ की तरह,
ना लिखने के काबिल छोड़ा, ना जलने के..!

17.बरबाद कर देती है मोहब्बत हर मोहब्बत करने वाले को क्यूकि इश्क़ हार नही मानता और दिल बात नही मानता..!!

0