ittefaq-shayari

Best इत्तेफाक Shayari, Status, Quotes, SMS

Best इत्तेफाक Shayari, Status, Quotes, SMS ittefaq shayari किया है इश्क मगर मैं बिछड़ गया तन्हा उसे मैं देखकर हर बार गुजर गया तन्हा याद आता है मुझे उसके जूड़े का बंधन जो मेरे सीने को बांधे चला गया तन्हा

इत्तेफाक

इत्तेफाक

1.इक लफ़्ज़-ए-मोहब्बत का अदना ये फ़साना है
सिमटे तो दिल-ए-आशिक़ फैले तो ज़माना है

2.ये किसका तसव्वुर है ये किसका फ़साना है
जो अश्क है आँखों में तस्बीह का दाना है

3.हम इश्क़ के मारों का इतना ही फ़साना है
रोने को नहीं कोई हँसने को ज़माना है

4.क्या हुस्न ने समझा है क्या इश्क़ ने जाना है
हम ख़ाक-नशीनों की ठोकर में ज़माना है

5.वो हुस्न-ओ-जमाल उनका ये इश्क़-ओ-शबाब अपना
जीने की तमन्ना है मरने का ज़माना है

6.या वो थे ख़फ़ा हमसे या हम थे ख़फ़ा उनसे
कल उनका ज़माना था आज अपना ज़माना है

7.अश्कों के तबस्सुम में आहों के तरन्नुम में
मासूम मोहब्बत का मासूम फ़साना है

8.जो उनपे गुज़रती है किसने उसे जाना है
अपनी ही मुसीबत है अपना ही फ़साना है

9.आँखों में नमी-सी है चुप-चुप-से वो बैठे हैं
नाज़ुक-सी निगाहों में नाज़ुक-सा फ़साना है

10.ऐ इश्क़-ए जुनूँ-पेशा हाँ इश्क़-ए जुनूँ-पेशा
आज एक सितमगर को हँस-हँस के रुलाना है

11.ये इश्क़ नहीं आसाँ इतना तो समझ लीजे
इक आग का दरिया है और डूब के जाना है

12.दिल संग-ए-मलामत का हरचंद निशाना है
दिल फिर भी मेरा दिल है दिल ही तो ज़माना है

#इत्तेफाक_शायरी  #इत्तेफाक_कोट्स  #इत्तेफाक_स्टेटस